आधार और निजता को लेकर मचे घमासान के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  मोबाइल फोन को आधार के साथ लिंक को लेकर कहा कि वह अपने मोबाइल को आधार से लिंक नहीं करेंगी, भले ही उनका फोन बंद क्यों न कर दिया जाए.

उन्होंने कहा, ‘मै अपना फोन नंबर आधार कार्ड से लिंक नहीं करूंगी, अगर ये लोग मेरा फोन डिसकनेक्ट करना चाहते है तो करने दो.’ ममता ने कहा, ‘मैं फोन को आधार से लिंक नहीं करुंगी, एजेंसी को फोन काटना है तो काट दें. मैं दूंगी तो चैलेंज करके दूंगी’.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ऐसा न करने के पीछे वजह बताते हुए उन्होंने कहा, ‘जैसे ही आप आधार से मोबाइल लिंक करेंगे उन्हें (केंद्र सरकार) सब पता चल जाएगा. घर में आप क्या खा रहे हैं. पति-पत्नी क्या बात कर रहे हैं. सब उन्हें पता चल जाएगा’.

उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं बाकी लोगों से भी इस मामले में आगे आने की अपील करती हूं. मोबाइल नंबर से आधार को लिंक करने का यह कदम व्यक्तिगत गोपनियता पर अटैक करना है.

बता दें कि डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम ने 23 मार्च को मोबाइल से आधार लिंक कराने का आदेश जारी किया है. जिसको निरस्त करने के लिए सामजिक कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की हुई है.

उन्होंने अपनी याचिका में दूरसंचार विभाग की 23 मार्च की अधिसूचना निरस्त करते हुए इसे असंवैधानिक घोषित करने का अनुरोध किया गया है. साथ ही इस अधिसूचना पर अमल करने से रोकने और अब तक एकत्र किए गए आंकड़े नष्ट करने का निर्देश देने का भी अनुरोध किया गया है.

Loading...