mamta

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर से नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लिया हैं. उन्होंने पीएम मोदी के इस फैसले को अदूरदर्शी बताते हुए कहा कि करोड़ों लोग इस अदूरदर्शी नीति का शिकार हुए हैं.

उन्होंने कहा कि नोटबंदी आम जनता के लिए एक बड़ा झटका और श्रमिकों के लिए अधिकतम झटका है। करोड़ों लोग इस अदूरदर्शी नीति का शिकार हुए हैं. ममता ने दावा किया कि नोटबंदी के फैसले ने देशभर में करीब 5 करोड़ श्रमिकों को बुरी तरह प्रभावित किया है.

ममता बनर्जी ने चिंता जताते हुए कहा कि बड़े उद्योग छंटनी की प्रक्रिया शुरू करने जा रहे हैं जिससे बड़ी संख्या में श्रमिक बेरोजगार हो जाएंगे और वो ऐसे लोगों की पीड़ा को अच्छी तरह समझ सकती हैं जिससे कि उन्हें गुजरना पड़ रहा है. ये बड़ी चिंता का विषय है जिसे वो सब के साथ साझा करना चाहती हैं.

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी के कदम को वापस लेने की भी मांग की. उन्होंने जोर देकर कहा है कि आठ नवंबर को 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट बंद किए जाने के बाद से 95 लोग इससे संबंधित समस्याओं के चलते जान गंवा चुके हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें