mayawati-2

उत्तर प्रदेश की सपा सरकार द्वारा  ‘अल्पसंख्यक अधिकार दिवस’ मनाने की आलोचना करते हुए बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती कहा कि सिर्फ सांकेतिक तौर पर ‘अल्पसंख्यक अधिकार दिवस’ मनाने से इन वर्गों के लोगों का भला होने वाला नहीं है.

उन्होंने कहा कि सपा सरकार को भाजपा के शिकंजे से बाहर कर और मुस्लिम कल्याण की ठोस योजना पर अमल करने से विकास होगा. सपा सरकार ने मुजफ्फरनगर समेत 400 से अधिक सांप्रदायिक दंगों का घाव लोगों के मन-मस्तिष्क पर दिया है. मुजफ्फरनगर के पीडि़तों को राहत, मारे गए लोगों के आश्रितों को नौकरी का वादा भी पूरा नहीं किया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मायावती ने सवाल किया कि मुजफ्फरनगर दंगे के आरोपितों पर सपा सरकार का मेहरबान क्यों रही? अगर भाजपा को अयोध्या विध्वंस, कांग्रेस को मुरादाबाद, हाशिमपुरा-मलियाना, भागलपुर, भिंवडी के दंगों के लिए याद किया जाता है तो सपा को मुजफ्फरनगर दंगों के लिए जाना जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ बसपा के शासनकालों में ही प्रदेश दंगा-मुक्त रहा और सर्वसमाज के लोगों के जानमाल व मज़हब एवं उनके धार्मिक स्थल सुरक्षित रहे हैं.

मायावती ने कहा कि बसपा सरकार का रिकार्ड खासकर अपराध नियंत्रण और कानून-व्यवस्था के साथ-साथ पीड़ित लोगों को त्वरित न्याय दिलाने के मामले में काफी अच्छा रहा है.

Loading...