अल्पसंख्यक का मतलब सिर्फ मुस्लिम नहीं, सिख, बौद्ध, जैन भी शामिल: नकवी

6:47 pm Published by:-Hindi News

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को लोकसभा में कहा कि देश में अल्पसंख्यक का मतलब केवल मुसलमान नहीं हैं। उन्होने आगाह किया कि अल्पसंख्यकों का जिक्र करने के दौरान सिर्फ ‘मुस्लिम’ कहने से थोड़ा भ्रम पैदा होता है

उन्होने कहा, इसके अलावा भी छह अन्य समुदाय हैं, जिन्हें अल्पसंख्यक का दर्जा प्राप्त है। उनकी सरकार सम्मान के साथ इन सबका तुष्टीकरण के बिना विकास करना चाहती है।

लोकसभा में अब्दुल खालेक के प्रश्न का उत्तर देते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यकों में मुसलमानों के अलावा बौद्ध, जैन, सिख, ईसाई, और पारसी समुदाय भी आता है, जिनके कल्याण के लिए भारत सरकार काम कर रही है। पहले केलल 90 जिलों को अल्पसंख्यकों से जोड़ा जाता था उनकी सरकार ने इन जिलों की संख्या 308 कर दी जहां अल्पसंख्यक समाज रहता है।

india muslim 690 020918052654

इनके लिए उनकी सरकार ने कई जनविकास कार्यक्रम किए हैं।नकवी ने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय को मिला बजटीय आवंटन 3827.26 करोड़ रुपये (2016-17), 4195.48 करोड़ रुपये (2017-18) और 4700.00 करोड़ रुपये (2018-19) रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जन विकास कार्यकम के लिए 1071.10 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जिसके तहत 40 छात्रावास, 1,628 स्मार्ट क्लास, 59 साध्वियां मंडप, 350 बाजार शेड, 21 आवासीय स्कूल, 37 स्कूल भवन, 4,083 अतिरिक्त कक्षाएँ, 88 स्वास्थ्य परियोजनाएँ और अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में 1,096 आंगनवाड़ी केंद्रों का निर्माण किया गया है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें