नई दिल्ली | फ़िलहाल देश में गाय, गौरक्षा और बीफ को लेकर खूब चर्चाये हो रही है. विकास , बेरोजगारी और बढती महंगाई को छोड़कर अब संसद में भी ये मुद्दे प्राथमिकताओ में नजर आ रहे है. खासकर बीजेपी सांसद इस मुद्दे को बड़े जोर शोर से उठा रहे है. ये सांसद , सदन में गौमूत्र और गाय के गोबर के फायदे गिनाने में व्यस्त है. यहाँ तक की एक सांसद का तो दावा है की गौमूत्र से गंभीर से गंभीर बिमारी का भी इलाज किया जा सकता है.

दिल्ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने मंगलवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान गौमूत्र के फायदे बताये. उन्होंने कहा की देश के एक पूर्व एडिशनल सोलिसिटर जनरल बहुत ही गंभीर बीमारी से ग्रषित थे. उनको गौमूत्र ने ही इस बीमारी से ठीक होने में मदद की. दरअसल लेखी इसके द्वारा यह जाताना चाहती थी की गौमूत्र कई बीमारियों के इलाज में कारगार साबित हो सकता है. इसलिए इस पर कुछ शोध होने चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौमूत्र के फायदे बताने के बाद लेखी ने सरकार से सवाल किया की वह यह जानने की इच्छुक है की क्या सरकार ने गाय और मवेशियों से जुड़े प्राचीन काल विज्ञान की जानकारी फैलाने को लेकर कोई रणनीति बनायीं है या नही? इससे पहले भी कई बार खबर आ चुकी है की सरकार ने गौमूत्र और गाय के गोबर के ऊपर शोध करने के लिए एक समिति का गठन किया है.

मालूम हो की मीनाक्षी लेखी अभी हाल ही में ख़राब हिंदी की वजह से ट्रोल हो चुकी है. दिल्ली में इन्द्रप्रस्थ गैस लिमिटेड के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने सन्देश के रूप में जब बोर्ड पर स्वच्छ लिखा तो वहां मौजूद सभी लोग उनकी गलत हिंदी को देखकर हैरान रह गए. उन्होंने बोर्ड पर स्वच्छ की जगह ‘सवच्छ’ लिख दिया था. इसके बाद ट्वीटर पर निजाम की वर्तनी को लेकर भी वो खूब ट्रोल हुई.

Loading...