केजरीवाल की तारीफ पर मिलिंद देवड़ा से बोले माकन – कांग्रेस छोड़ना चाहते हो तो छोड़ दो

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तारीफ करने पर कांग्रेस नेता अजय माकन ने पार्टी के ही मिलिंद देवड़ा को आड़े हाथ लेते हुए कांग्रेस छोड़कर जाने का फरमान सुना दिया।

दरअसल मिलिंद देवड़ा ने केजरीवाल का एक वीडियो ट्वीट कर लिखा था कि कुछ ऐसे तथ्य बताने जा रहा हूं जो कम लोग जानते हैं। केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार राजस्व को दुगना कर 60,000 करोड़ कर दिया और पिछले 5 सालों तक रेवेन्यू सरप्लस को मेनटेन रखा। विचार ये है कि दिल्ली अब भारत की सबसे विवेकपूर्ण सरकारों में से एक है।

इस पर पलटवार करते हुए माकन ने देवड़ा को कांग्रेस छोड़ने की सलाह दे डाली। इतना ही नहीं देवड़ा की बात का खंडन करते हुए माकन ने कहा, ‘ब्रदर, आपको पहले कांग्रेस छोड़ देना चाहिए और फिर ऐसे अधपके तथ्यों का प्रचार करना चाहिए।’ उन्होंने आगे कहा कि वह भी एक कम ज्ञात तथ्य साझा करना चाहते हैं।

माकन ने बताया कि कांग्रेस सरकार के दौरान 1997-98 से 2013-14 के बीच राजस्व में 14.87 प्रतिशत (4 हजार 73 करोड़ से 37 हजार 459 करोड़) की वृद्धि दर्ज की गई थी जबकि 2015-16 से 2019-20 के बीच आप सरकार के दौरान चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) महज 9.90 प्रतिशत (41 हजार 129 करोड़ से 60 हजार करोड़) रही।

इसके अलावा पूर्व विधायक अलका लांबा ने भी देवड़ा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘पहले पिता जी के नाम से पार्टी में आओ, फिर बैठे बैठे टकेट पाओ, कांग्रेस की लहर में पहली बार में ही केंद्रीय मंत्री भी बन जाओ। जब अपने अपने दम पर लड़ने की बात आए तो हार जाओ, पार्टी में पद की लड़ाई लड़ो, फिर पार्टी को गलियाते हुए, दूसरों के गुणगान में गिटार हाथ में लेकर बजाते रहो।”

हालांकि देवड़ा ने माकन के ट्वीट पर सोमवार को पलटवार भी किया और जवाब देते हुए उन पर गंभीर आरोप लगाए। अजय माकन के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए उन्होंने कहा, ‘ब्रदर! मैं कभी भी शीला दीक्षित जी द्वारा किए गए काम को कमतर नहीं बताता। यह आपकी विशेषज्ञता है लेकिन बदलाव के लिए अभी देर नहीं हुई है। उन्होंने माकन को ताना देते हुए कहा कि अगर आपने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन की वकालत करने की बजाय शीला दीक्षित जी की उपलब्धियों को उजागर किया होता तो आज कांग्रेस सत्ता में होती।

विज्ञापन