Government Decision on, Ram Madhav said J

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की निवर्तमान मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी की और से वापस समर्थन लिए जाने के बाद मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा देते हुए कहा कि हमने भाजपा के साथ गठजोड़ अवाम की भलाई के लिए था न कि सत्ता के लिए।

मुफ्ती ने कहा कि भाजपा के आने से राज्य में मुसलमान असहज थे। पीडीपी कार्यकर्ताओं ने भी बहुत मुश्किलें सही हैं। हमने बड़े विजन के साथ अलायंस किया था। यहां के लोगों में धारा 370 को लेकर डर था, हमने लोगों के उस डर को दूर किया। इस संबंध में हमने कोर्ट में भी दलील दी।
पीडीपी नेता ने कहा कि जम्मू कश्मीर में ताकत की नीति नहीं चल सकती। हमने गठजोड़ इसलिए किया था ताकि जनता के साथ संवाद हो, पाकिस्तान के साथ बातचीत हो और कश्मीर में शांति के लिए बातचीत जरूरी है। हमने रमजान के दौरान ऑपरेशन भी रुकवाया। 11 हजार नौजवानों के केस भी वापस लिए गए।
https://youtu.be/wBNAkG3nPzA
उन्होने कहा, सालों बाद जम्मू कश्मीर के लोग शांति से जी रहे थे। कश्मीर मुद्दे को ताकत से नहीं सुलझा सकते हैं। हम चाहते हैं कि राज्य की बेहतर स्थिति के लिए जनता और पाकिस्तान से बातचीत होनी चाहिए। हम किसी के साथ सरकार नहीं बनाएंगे।
महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में डराने धमाकाने की नीति नहीं चलेगी। मुफ्ती ने आगे कहा, ‘हम (पीडीपी) एकतरफा संघर्ष विराम चाहते थे, लेकिन दुर्भाग्य से हमें उचित प्रतिक्रिया नहीं मिली।’
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?