अमित शाह अनुच्छेद 370 को खत्म करने का दिन में सपना देख रहे: महबूबा मुफ्ती

पीडीपी प्रमुख एवं जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को कहा कि भाजपा अध्यक्ष संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बारे में ‘‘दिन में सपना देख रहे हैं।’’ यह अनुच्छेद राज्य को विशेष दर्जा देता है। उन्होंने कहा कि यह संवैधानिक प्रावधान राज्य के लोगों और भारत के बीच एक पुल है।

मुफ्ती ने उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा इलाके में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में कहा, “मैं अमित शाह को बताना चाहती हूं कि अगर आप अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बारे में सोच रहे हैं तो आप दिन में सपना देख रहे हैं।” उन्होंने कहा कि अगर संवैधानिक प्रावधान को हटाया गया तो उनके साथ-साथ मुख्यधारा के नेताओं को आगे के कदम पर फिर से विचार करना होगा।

मुफ्ती ने कहा, ‘‘अगर आप इस पुल को तोड़ते हैं तो महबूबा मुफ्ती जैसे मुख्यधारा के नेताओं, जो भारत के संविधान और जम्मू कश्मीर के संविधान की शपथ लेते हैं, उन्हें हमारे आगे के कदमों पर फिर से विचार करना होगा क्योंकि हमने भारत के झंडे का समर्थन किया है और अगर आप (अनुच्छेद) 370 को छुएंगे, तो यह झंडा हमारे हाथों या हमारे कंधों पर नहीं रहेगा।’’

इससे पहले जम्मू कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री बनाने की बात कही। उन्होंने कहा, ‘बाकी रियासत बिना शर्त के देश में मिले, पर हमने कहा कि हमारी अपनी पहचान होगी, अपना संविधान होगा। हमने उस वक्त अपने “सदर-ए-रियासत” और “वजीर-ए-आजम” भी रखा था, इंशाअल्लाह उसको भी हम वापस ले आएंगे।’

विज्ञापन