लोकसभा चुनाव 2019 के एग्जिट पोल्स आने के बाद से ही EVM पर राजनीतिक घमासान जारी है। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी ईवीएम की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े किए हैं। महबूबा मुफ्ती ने भी ईवीएम की सुरक्षा को लेकर कहा है कि ‘ये एक और बालाकोट की तैयारी’ है।

मुफ्ती ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया कि ईवीएम स्विच करने की खबरें लगातार आ रही हैं, लेकिन अभी तक चुनाव आयोग की तरफ से कोई सफाई नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह एग्जिट पोल के बाद इस तरह की लहर बनाने की कोशिश हो रही है, ये एक तरह से दूसरे बालाकोट की तैयारी है।

इसी बीच यूपी-बिहार के कई हिस्सों में विपक्ष ने ईवीएम में धांधली के प्रयास के आरोप लगाए हैं। बिहार के सारण और महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र के स्ट्रॉन्ग रूम में जहां आरजेडी ने ईवीएम बदलने की कोशिशों का आरोप लगाया है वहीं, यूपी के मऊ में पुलिस को बसपा समर्थकों पर भीड़ हटाने के लिए लाठीचार्च करना पड़ा। गाजीपुर में ईवीएम की रखवाली के मुद्दे पर बीती रात पुलिस और बसपा समर्थक आमने-सामने आ गये।

ऐसे में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। प्रियंका ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे न्‍यूज चैनलों की ओर से प्रसारित एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत मिलने के अनुमान पर ध्‍यान दें। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता स्‍ट्रॉन्‍ग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहें।

कार्यकर्ताओं को जारी ऑडियो संदेश में प्रियंका ने कहा कि आप लोग, अफवाहों और एग्जिट पोल से हिम्मत मत हारिए। ये अफवाहें आपका हौसला तोड़ने के लिए फैलाई जा रही हैं। इस बीच आपकी सावधानी और भी महत्वपूर्ण बन जाती है। स्‍ट्रॉन्‍ग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहिए और चौकन्ने रहिए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन