जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले के मुख्य अभियुक्त के वकील असीम साहनी को एडवोकेट जनरल के तौर पर नियुक्त को राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने बलात्कारियों की रक्षा का इनाम करार दिया।

महबूबा ने ट्वीट कर कहा कि यह विडंबनापूर्ण है कि अंतरराष्ट्रीय न्याय का विश्व दिवस मनाने के ठीक एक दिन बाद, भयानक कठुआ बलात्कार और हत्या में डिफेन्स काउंसिल को एडिशनल एडवोकेट जनरल नियुक्त किया गया है।

उन्होने आगे लिखा कि कथित हत्यारों और बलात्कारियों की रक्षा करने वाले लोगों को पुरस्कृत करना घिनौना और न्याय की भावना का चौंकाने वाला उल्लंघन है। ऐसा कदम केवल हमारे समाज में बलात्कार संस्कृति को प्रोत्साहित करने के लिए काम करेगा। उम्मीद है कि राज्यपाल हस्तक्षेप करेंगे।

बता दे कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने असीम साहनी का नाम राज्य के कानून विभाग द्वारा जारी की गई एडिशनल एडवोकेट जनरल, डिप्टी एडवोकेट जनरल और सरकारी वकीलों की लिस्ट मे सातवें नंबर पर दिया है।

साहनी को एडिशनल एडवोकेट जनरल नियुक्त करने पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के बेटी बचाओ, ट्रिपल तलाक और महिला अधिकार सभी वादे झूठे हैं