image credit: inkhabar
image credit: inkhabar

नई दिल्ली | पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावो के नतीजे आ चुके है. पांच में से तीन राज्यों में कांग्रेस सरकार बनाती दिख रही है. जबकि बाकी बचे दो राज्यों में बीजेपी ने जीत दर्ज की है. देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने प्रचंड बहुमत प्राप्त करते हुए 324 सीटो पर कब्ज़ा किया. वही उत्तराखंड में भी बीजेपी ने तीन चौथाई सीट प्राप्त की है. यूपी और उत्तराखंड में बीजेपी की जीत से हर तरफ मोदी लहर की बात हो रही है.

ज्यादातर मीडिया में केवल उत्तरप्रदेश की जीत की ही चर्चा है. मोदी को आजाद भारत का सबसे बड़ा नेता बताने की जैसे होड़ से मची हो. कुछ मीडिया उन्हें गरीबो के मसीहा की उपाधि देने में लगा हुआ है तो किसी ने अभी से 2019 के लोकसभा चुनावो की भविष्यवाणी कर दी है. इस दौरान कुछ मीडिया चैनल कांग्रेस को नसीहत देते हुए भी दिखाई दिए. लेकिन मोदीमय हुआ मीडिया यह भूल गया की इन चुनावो में कांग्रेस ने बीजेपी से बहतर प्रदर्शन किया है.

अगर आंकड़ो की बात की जाए तो पांच राज्यों में से 2 राज्यों में कांग्रेस पहले से सत्ता पर ही काबिज था. जबकि बीजेपी की भी दो राज्यों में सरकार थी. जबकि एक राज्य में समाजवादी पार्टी की सरकार थी. पांचो राज्यों के नतीजे आने के बाद बीजेपी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बहुमत हासिल किया और बाकी तीनो राज्यों वो हार गयी. जबकि कांग्रेस तीन राज्य (पंजाब, गोवा और मणिपुर ) में सरकार बनाती दिख रही है.

इनमे से पंजाब में कांग्रेस को प्रचंड बहुमत मिला है जबकि मणिपुर और गोवा में वो सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है. मणिपुर और गोवा में कांग्रेस बहुमत से केवल 3 सीट पीछे है. इन चुनावो से पहले गोवा और पंजाब में बीजेपी की सरकार थी. चुनावो के बाद दोनों ही राज्यों को बीजेपी ने खो दिया. अगर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की जीत में मोदी लहर काम कर रही है तो क्या बाकी राज्यों में मोदी की यह लहर कुंद क्यों गयी.

कुछ मीडिया बीजेपी की जीत को नोट बंदी से जोड़ते हुए कह रही है की यह नोट बंदी पर जनादेश है. तो क्या माना जाए की उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का जनादेश ही देश का जनादेश है. क्योकि जहाँ जहाँ बीजेपी की सरकार थी वहां नोट बंदी के बाद उन्होंने सत्ता खो दी. चलिए अब यह भी जनता पर ही छोड़ देते है की ये चुनाव कांग्रेस मुक्त भारत की तरफ एक और कदम है या इन चुनावो ने कांग्रेस में एक बार फिर जान फूंक दी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?