उत्तरप्रदेश में मिली करारी हार के बाद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने आज गुजरात विधानसभा के लिए चुनावी प्रचार का बिगुल फुक दिया है.

बड़ोदरा में रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने बीजेपी को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि भाजपा राज में दलितों का शोषण हों रहा है. उनका कोई अधिकार सुरक्षित नहीं बचा है. उन्होंने इसके लिए बीते साल हुए उना कांड का हवाला दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि ‘भाजपा आज दलितों की बात करती है, लेकिन आपको उनका असली चेहरा पहचानना चाहिए. भाजपा के नेतृत्व वाले गुजरात में दलितों के कोई अधिकार नहीं हैं. अगर बसपा गुजरात की सत्ता में आती है तो ऊना जैसी घटनाएं कभी नहीं होंगी और दलितों को सम्मान मिलेगा.’

इस दौरान उन्होंने हिंदू धर्म के शंकराचार्यों को भी निशाने पर लिया और कहा कि अगर शंकराचार्यों ने (दलितों के साथ) भेदभाव करना बंद नहीं किया तो बौद्ध धर्म अपना लुंगी.

मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर भी हमला बोला और कहा,  दलितों के वोट पाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी अंबेडकर के नाम पर ‘नाटक’ करते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने कभी भी वड़ोदरा अंबेडकर स्मारक नहीं बनवाया.

Loading...