CAA विरोध को लेकर चंद्रशेखर आजाद पर भड़की मायावती, बोली – विपक्ष कहने पर बसपा को कर रहे कमजोर

दिल्ली के एतिहासिक जामा मस्जिद पर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होने को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर पर बड़ा हमला बोला है। मायावती ने रविवार को चंद्रशेखर को विरोधी दलों को मोहरा बताया है।

मायावती ने ट्वीट कर कहा, “दलितों का आम मानना है कि भीम आर्मी का चन्द्रशेखर, विरोधी पार्टियों के हाथों खेलकर खासकर बी.एस.पी. के मजबूत राज्यों में षड्यन्त्र के तहत चुनाव के करीब वहां पार्टी के वोटों को प्रभावित करने वाले मुद्दे पर, प्रदर्शन आदि करके जबरन जेल चला जाता है।”

उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर यूपी का रहने वाला है, लेकिन सीएए और एनआरसी  पर यह यूपी की बजाए दिल्ली के जामा मस्जिद वाले प्रदर्शन में शामिल होकर जबरन अपनी गिरफ्तारी करवाता है क्योंकि यहां जल्दी ही विधानसभा चुनाव होने वाला है।

उन्होंने अपनी पार्टी के लोगों से अपील करते हुए कहा, “अतः पार्टी के लोगों से अपील है कि वे ऐसे सभी स्वार्थी तत्वों, संगठनों व पार्टियों से हमेशा सचेत रहें। वैसे ऐसे तत्वों को पार्टी कभी लेती नहीं है, चाहे वे कितना प्रयास क्यों ना कर ले?”

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान आगजनी और तोड़फोड़ के लिए पुलिस ने शनिवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को गिरफ्तार कर लिया था। और 14 दिनों की रेमांड पर भेज दिया गया।

फिलहाल, कोर्ट के आदेश के बाद चंद्रशेखर आज़ाद को तिहाड़ जेल में रखा गया है। बीते शुक्रवार को जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक एक विरोध मार्च के लिए अनुमति देने से पुलिस ने इनकार कर दिया गया था। जिसके बाद वो जामा मस्जिद पहुंचे थे।

विज्ञापन