Wednesday, September 22, 2021

 

 

 

मायावती की मांग, रिचा सिंह की सुरक्षा सुनिश्चित करे सरकार

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रेस नोट जारी कर इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की छात्र संघ की पहली महिला अध्यक्ष रिचा सिंह को विभिन्न प्रकार से प्रताडि़त करने, उन्हें डराने-धमकाने की तीव्र निन्दा की है। जारी वक्तव्य में बसपा मुखिया ने कहा है कि इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ-साथ उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार को भी छात्रा की प्रताड़ना की रोकथाम के लिये अपनी भूमिका निभानी चाहिये। उन्होंने कहा है कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी प्रशासन व प्रदेश सरकार ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला की दुःखद घटना से कोई सबक नहीं सीखा है अन्यथा रिचा सिंह के साथ जो ग़लत व जुल्म-ज़्यादती हो रही है वह कभी नहीं होती।

योगी आदित्यनाथ को यूनिवर्सिटी में आमंत्रित करने से रोकने की मिल रही है सजा

राज्यसभा सांसद मायावती ने आगे कहा कि रिचा सिंह देश की आज़ादी के बाद इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की पहली महिला अध्यक्ष हैं और पी.एच.डी. की छात्रा हैं। उनका जुर्म सिर्फ इतना है कि उन्होंने उग्र व भड़कीले साम्प्रदायिक भाषण देने वाले गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को यूनिवर्सिटी कैम्पस में आमन्त्रित करने का विरोध किया था ताकि संगम की नगरी इलाहाबाद को नफरत व आग का दरिया बनाने से रोका जा सके। यह बात विश्वविद्यालय प्रशासन व भाजपा के छात्र संघ को पसन्द नहीं आयी और उन्होंने विभिन्न स्तर पर रिचा के खि़लाफ मोर्चा खोल दिया और उन्हें डराने-धमकाने भी लगे हैं, जो पूरी तरह गलत है।

रिचा सिंह पर होने वाले अत्याचारों की रोकथाम के कदम उठाए मानव संसाधन मंत्रालय 

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि रिचा सिंह के पी.एच.डी. के दाखिले में गड़बड़ी हुई थी। परन्तु यह सवाल आज अचानक दो वर्ष के बाद क्यों उठाया जा रहा है। रिचा का दाखिला वर्ष 2013-2014 में हुआ था और अगर उसके दाखिला में कोई गड़बड़ी हुई है तो उसकी सज़ा यूनिवर्सिटी के उन लोगों के खिलाफ होनी चाहिये जिन्होंने उसे दाखि़ला दिया। इस प्रकार निश्चित तौर पर यह रिचा सिंह को प्रताडि़त करने का मामला लगता है। एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय होने के नाते यह केन्द्र सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी बनती है कि वह एक महिला पर होने वाले विभिन्न प्रकार के अत्याचार की रोकथाम के लिये समुचित व सख़्त क़दम उठाये, वरना ए.बी.वी.पी. के लोग न जाने कितने युवक-युवतियों की जान से खिलवाड़ करके देश का अहित करते रहेंगे। साथ ही, सपा सरकार को रिचा सिंह की सुरक्षा की भी व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए। (nationaldastak)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles