भोपाल: मध्य प्रदेश के कांग्रेस सचिव मौलाना उमर कासमी ने गायक अदनान सामी को पद्मश्री दिये जाने को लेकर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आज करगिल में देश के लिए लड़ने वाला सन्नाउल्लाह घुसपेटिया है तो दूसरी और भारतीय जवानों पर गोलियां बरसाने वाले के बेटे को पद्मश्री दिया जा रहा है।

कासमी ने कहा कि ‘अदनान सामी मूल रूप से भारतीय नागरिक न होने के बावजूद पद्मश्री दिया जा रहा है। वहीं भारतीय सेना में 30 साल सेवा देने वाले  सन्नाउल्लाह को डिटेंशन सेंटर में डाला गया। उन्होने कहा, असम पुलिस बॉर्डर ऑर्गनाइज़ेशन में रहते हुए सन्नाउल्लाह ने पाकिस्तानियों को रोकने का काम किया। तो वहीं अब पाकिस्तानियो की औलादों को न केवल नागरिकता दी जा रही है। बल्कि उन्हे प्रतिष्ठित सम्मान दिये जा रहे है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि आज देश का मुसलमान सड़कों पर तिरंगे के साथ देश से निकाले जाने वाले CAA और NRC कानून का विरोध कर रहे है। लेकिन केंद्र की मोदी सरकार को उनका सुनना भी गवारा नहीं है। बल्कि शाहीन बाग के देशभक्त मुसलमानों को बीजेपी नेताओं ने देशद्रोही का तमगा दे दिया।

उन्होने कहा कि आज मौलाना अबुल कलाम आजाद, अशफाक़उल्लाह खान, वीर हामिद अली जैसे शहीदों की रूह उनकी कब्रों में तड़प रही होगी और सवाल कर रही होगी कि आज उनके वंशजों को ये दिन भी देखना होगा कि जिस देश के लिए उनके पुरखों ने अपना खून बहाया उसी देश का नागरिक होने का सबूत देना होगा।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन