शिवराज सरकार में आटा घोटाला, गरीबों के मुंह से छिन रहा निवाला: मौलाना उमर कासमी

kasmii
मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के साथ मौलाना उमर कासमी

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस सचिव मौलाना उमर कासमी ने लॉकडाउन में राज्य सरकार की और गरीबों को बांटे जा रहे आटा पैकेट को एक बड़ा आटा घोटाला करार दिया। उन्होने कहा कि दस किलों के पैकेट में तीन किलो आटा कम निकल रहा है।

प्रदेश कांग्रेस सचिव ने कहा कि शिवराज सरकार का ये आटा घोटाला गरीबों के मुंह से निवाला छिनने के काम कर रहा है। उन्होने कहा कि जब प्रदेश की गरीब जनता दो वक्त के भोजन के लिए भी तरस रही है। ऐसे समय में सामने आया ये आटा घोटाला सरकार के भ्रष्टाचार को साबित करने के लिए काफी है।

उन्होने बताया कि पूरे प्रदेश में लगभग 70 लाख आटा पैकेट जाने है। हर पैकेट में तीन किलो आटा कम है। ऐसे में 18000 टन आटे की हेराफेरी से करोड़ों रुपये का घोटाला किया जा रहा है। उन्होने कहा कि प्रदेश में शिवराज सरकार के आने के साथ ही घोटाले भी शुरू हो गए है।

कासमी ने सीएम शिवराज से तत्काल घोटाले की जांच कराने की मांग की। इसके साथ ही उन्होने सबंधित फ़र्म और अधिकारियों पर कारवाई करते हुए तीन किलो का अतिरिक्त पैकेट उपलब्ध कराने के बारे में कहा है।

विज्ञापन