amir11

amir11

गुजरात विधानसभा चुनाव में मुस्लिमों की भागीदारी के चलते कांग्रेस और बीजेपी से सीटो की मांग करने वाले राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल (RUC) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि गुजरात में मुसलमानों की जनसंख्या 10% होने के बावजूद मुसलमानों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है.

उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि गुजरात में दलित समुदाय की मांगों को लेकर कांग्रेस परेशान है और जिग्नेश मेवानी से मुलाकात कर रही है, लेकिन मुसलमानों के मुद्दे को हल करने के लिए किसी भी तरह की पहल नहीं की जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी से गुजरात में मुसलमानों की जनसंख्या के अनुपात में 17-18 सीटों की मांग की है. इसी के साथ मौलाना ने बीजेपी से भी इसी तरह की मांग करते हुए कहा कि बीजेपी हमारी मांग मानकर मुसलमानों को 18 सीट दे देती है तो मुसलमान बीजेपी को भी वोट दे सकते हैं.

मौलाना ने कहा कि अगर हमारे कौम की भलाई भाजपा के साथ जुड़ने में है, तो राष्ट्रीय उलेमा काउन्सिल भाजपा में शामिल होने के लिए तैयार है. ऐसे में अगर कोई मुझे भाजपा का एजेंट बताता है, तो बताये, कोई फर्क नहीं पड़ता.

उन्होंने कहा, यदि दोनों पार्टियां हमारी मांगों को नहीं मानती हैं तो हम तीसरे विकल्प के तौर अपने उम्मीदवार उतारेंगे. मौलाना ने शंकर सिंह वाघेला की जनविकल्प पार्टी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ने का भी इशारा किया.

Loading...