mamata_banerjee_650_kolkata_rally_13dec14

नोटबंदी और प्रधानमंत्री के कथित व्यक्तिगत भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष ने एक बैठक की. मंगलवार को दिल्ली में हुई इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटबंदी को एक बड़ा घोटाला करार देते हुए कहा कि आजादी के बाद से ऐसा घोटाला नहीं हुआ है.

उन्होंने कहा कि इससे हर व्‍यक्ति तकलीफ में है और 50 दिन पूरे होने के बाद हालात नहीं सुधरे तो क्‍या पीएम जिम्‍मेदारी लेते हुए इस्‍तीफा देंगे? कैशलेस के नाम पर सरकार बेसलेस और पूरी तरह से फेसलेस हो गई. उन्होंने पीएम मोदी के ‘अच्छे दिन’ के चुनावी वादे पर सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या यही अच्छे दिन का नमूना है.

ममता ने कहा, आजादी के बाद से आजतक नोटबंदी जैसा घोटाला नहीं हुआ है. क्या यही अच्छे दिन का नमूना है? पिछले 47 दिन में जो कुछ हुआ उससे हमारा देश 20 साल पीछे चला गया है. जो काम RBI को करना चाहिए था, वह भी आपने किया.

उन्होंने कहा, ‘आप पहले चायवाले थे अब फकीर हो गए. फकीर बनकर आपने 50 दिन मांगे। 50 दिन के बाद अगर इन सारी चीजों में सुधार नहीं होता है, तो आपने अपने भाषणों में क्यों कहा था कि मुझे 50 दिन दे दो.’ ममता ने पूछा कि अगर जनता की परेशानी दूर नहीं हुई तो क्या पीएम इस्तीफा देंगे?

ममता ने आरोप लगाया कि उन्‍हें जो मन में आता है वो करते हैं, संघीय ढांचा पुरी तरह से ध्‍वस्‍त हो चुका है, हमारे सारे अधिकार छीन लिए गए हैं. यह इमरजेंसी नहीं बल्कि सुपर इमरजेंसी है. यह निडर सरकार है जो किसी की परवाह नहीं करती.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें