Sunday, January 23, 2022

हरियाणा के सीएम खट्टर बोले – बेरोजगारी बड़ा मुद्दा नहीं, जितना बना दिया गया

- Advertisement -

हरियाणा में भाजपा को दोबारा सत्तासीन करने में जुटे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बेरोजगारी को लेकर विपक्ष के हो-हल्ला पर कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी की ऐसी स्थिति नहीं है, जैसा विपक्ष माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि प्रदेश में बेरोजगारी कोई मुद्दा ही नहीं है। हरियाणा कर्मचारी चयन ने पांच वर्षों में 70 हजार युवाओं को नौकरी दी है। हरियाणा लोकसेवा आयोग ने इस अवधि में 3 हजार युवाओं को क्लास-टू और क्लास-1 के पदों पर नियुक्त किया। प्राइवेट फैक्ट्रियों व उद्योगों में राज्य के 5 लाख युवाओं को रोजगार मिला है। उनके कार्यकाल में राज्य में छोटे और बड़े 58 हजार नए उद्योग लगे हैं।

युवाओं को रोजगार मुहैया करवाने के लिए शुरू की गई ‘सक्षम युवा’ योजना के तहत 97 हजार युवाओं ने आवेदन किया था। इनमें से 82 हजार युवाओं को 100 घंटे काम के बदले रोजगार दिया गया। अब भी 42 हजार युवा इस योजना के तहत काम कर रहे हैं। सरकार ने पोस्ट ग्रेजुएट युवाओं को 100 घंटे काम के बदले 9000 और ग्रेजुएट युवाओं को 7500 रुपये मासिक वेतनमान देना तय किया है।

दूसरी तरफ सेंटर फॉर मॉनिटरिंग ऑफ इंडियन इकॉनोमी (CMIE) का हवाला देते हुए स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या बीस लाख के पार है। CMIE के आंकड़ों के हवाले से उन्होंने कहा, ‘दूसरे राज्यों को पीछे छोड़ते हुए हरियाणा ने बेरोजगारी के मामले में महामारी का रूप धारण कर लिया है।

सीएम ने बताया कि पांच वर्षों में सरकार ने 434 रोजगार मेलों का आयोजन किया। इनके जरिये 82 हजार 600 युवाओं को रोजगार हासिल हुआ। सरकारी रिकार्ड के अनुसार प्रदेश में बेरोजगार युवाओं की संख्या 80 हजार के करीब है। दसवीं और बारहवीं पास युवाओं का आंकड़ा बेशक ज्यादा हो सकता है। इन्हें भी सक्षम बनाने के कोर्स कॉलेजों में शुरू किए हैं। स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम से 17 हजार युवाओं को रोजगार दिया है। परिवार पहचान पत्र बनने पर हर व्यक्ति तक पहुंच होगी और युवाओं को योग्यता अनुसार रोजगार मुहैया कराएंगे।

हाल के आंकड़ों से पता चला है कि हरियाणा में बेरोजगारी का आंकड़ा दूसरे राज्यों बड़े राज्यों जैसे मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड से भी ज्यादा है। उदाहरण के लिए पंजाब में बेरोजगारों की संख्या 11.24 लाख है जबकि हरियाणा में कम आबादी है और इस राज्य में बेरोजगारों की संख्या 20.20 लाख है। इनमें से 4.5 बेरोगजार या तो ग्रेजुएट हैं या फिर हायर डिग्री है।’

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles