modi123

नई दिल्ली: कॉंग्रेस नेता उमर कासमी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश की गिरती अर्थव्यवस्था के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से सबक लेने की नसीहत दी। उन्होने मनमोहन सिंह को ही देश का असल विकास पुरुष करार दिया।

उन्होने कहा कि राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग द्वारा गठित ‘कमिटी ऑफ रीयल सेक्टर स्टैटिक्स’ की रिपोर्ट ने साबित किया है कि देश को सबसे ज्यादा आर्थिक वृद्धि दर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दी है। उनके कार्यकाल 2006-07 में 10.08 प्रतिशत विकास दर रही। जो अपने आप में एक इतिहास है।

man11कासमी ने बताया कि इससे पहले सर्वाधिक 10.2 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि दर 1988-89 में रही। ये दौर भी किसी और का नहीं बल्कि कॉंग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का ही था। उन्होने कहा कि इस रिपोर्ट को सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रिपोर्ट में पुरानी श्रृंखला (2004-05) और नई श्रंखला 2011-12 की कीमतों पर आधारित वृद्धि दर की तुलना की गई है। पुरानी श्रंखला 2004-05 के तहत सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि दर स्थिर मूल्य पर 2006-07 में 9.57 प्रतिशत रही। नई श्रृंखला (2011-12) के तहत यह वृद्धि दर संशोधित होकर 10.08 प्रतिशत रहने की बात कही गई है। उस समय मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे।

कॉंग्रेस नेता ने कहा कि ‘ आखिर GDP श्रृंखला पर आधारित आकड़े ने साबित कर दिया कि  यूपीए शासन के दौरान (औसतन 8.1 प्रतिशत) की वृद्धि दर मोदी सरकार के कार्यकाल की औसत वृद्धि दर (7.3%) से अधिक ही रही। जो आधुनिक भारत के इतिहास में एकमात्र उदाहरण है।’

उन्होने बीजेपी पर तंज़ कसा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर से पूर्व प्रधानमंत्री से अर्थशास्त्र की क्लास लेनी चाहिए। ताकि गिरते रूपये को संभाला जा सके।

Loading...