कांग्रेस से बर्खास्त किये हुए वरिष्ठ नेता मणि शंकर अय्यर ने आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) अध्यक्ष और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी को 2019 का लोकसभा चुनाव कांग्रेस के साथ लड़ने का ऑफर दिया है.

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में अय्यर ने कहा, अगर बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनावों में हराकर उन्हें सत्ता से बाहर फेंकना है तो कांग्रेस और असदुद्दीन औवेसी की पार्टी को एक साथ चुनाव लड़ना होगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, 2004 और 2009 के चुनावों की बात करें तो कांग्रेस भी सत्ता में आई और औवेसी की सरकार भी बनी. अगर बीजेपी को सत्ता से हटाना है तो 2019 के लोकसभा चुनावों में औवेसी समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों को एक साथ जुटकर बीजेपी के खिलाफ लड़ना होगा.

अय्यर ने कहा “बीजेपी का तमिलनाडू में कोई महत्व नहीं है. बीजेपी केवल वहां टहल रही है. वे बिन बुलाए मेहमान हैं. 2014 में हुए चुनावों के बाद बीजेपी देश की सत्ता पर इसलिए आई क्योंकि यूपीए और गैर-बीजेपी पार्टियां पूरी तरह से बिखर चुकी थीं. इसी का फायदा बीजेपी को मिला और वह सत्ता में आई.”

इस सत्र के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों का एक ही चरित्र है. दोनों पार्टियां अपने विरोध को बर्दाश्त नहीं कर सकती है. ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद में 150 म्यूनिसिपल सीट है और बीजेपी महज 2 सीट जीत पाई है. इसके बावजूद बीजेपी दावा कर रही है कि वह तेलंगाना में सरकार बनाने की राह पर है.

Loading...