नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की गिरफ्तारी को चुनाव से जोड़ते हुए इसे मैच फिक्सिंग करार दिया.

राज्य सचिवालय में मीडिया से बातचीत में बनर्जी ने कहा कि यह चुनावी हथकंडा है. वोट के पहले सब कुछ सजा कर रखा गया था, फिल्म में जैसे बनाकर रखा जाता है, वैसे ही यहां हुआ है, लेकिन इसके लिए नरेंद्र मोदी को क्रेडिट देने का सवाल ही नहीं उठता है.

Loading...

ममता ने कहा, ‘हम बंगालियों का रबींद्रसंगीत को लेकर एक अलग रुख होता है. मुझे एक गीत याद आ रहा है, ‘तुमी रोबे निरोबे, हृदये ममो’ (तुम खामोशी से मेरे दिल में रहोगे) मोदी सरकार ने यही ट्रिक अपनाई. अब यह फिक्सिंग पकड़ी गई और इसका क्रेडिट टेलीग्राफ के पत्रकार को जाता है जिसने लंदन में नीरव मोदी का पर्दाफाश किया.’

उन्होंने कहा कि हालांकि चुनाव के दौरान हम लोगों को और कई स्ट्राइक देखने मिलेंगे. स्ट्राइक चाहे जितने करना चाहे करते रहें, लेकिन देश को खतरे में नहीं डाले. पर्दे के पीछे और भी कई राज हैं. एक्सपायरी डेट वाली दवा हम लोग नहीं खाते. नीरव के बहुत सारा धन है और वह इस देश का नागरिक भी नहीं है.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा पूरे देश का निजीकरण कर रही है. बीएसएनल के लोगों को वेतन नहीं मिल रहा है. एयरइंडिया इतनी सुंदर संस्था है, इसको भी निजी हाथों में देने की साजिश चल रही है. उन्होंने कहा कि लोग आज परेशान हैं और बेरोजगार हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा, भाजपा वाले जो कर रहे हैं वह सही नहीं है. उनको ऐसा नहीं करना चाहिए. चुनाव आचार संहिता का पालन होना चाहिए. सब लोग जानते हैं कि यह लोग बांटने की राजनीति कर रहे हैं. हमलोग देश की जनता को मिलकर रहने की बात कर रहे हैं.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें