लखनऊ: विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया है. कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए महेश शर्मा ने कहा, ’’पप्पू कहता है कि प्रधानमंत्री बनेगा, अब तो पप्पू की पप्पी भी आ गई’’.

महेश शर्मा, सिकंदराबाद में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे जिसमें उनके बहके बोल सुनाई पड़े. जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने कहा, ‘अगर बनर्जी यहां आकर कथक नाच करने लगें. कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी यहां आकर गीत गाने लगें तो कौन सुन रहा है. इन्हीं लोगों ने इस मिट्टी के किसान के लाल और किसानों के मसीहा चौधरी चरण सिंह दुर्गति की थी. पहले सरकार बनवा दी और पीछे से समर्थन खींच लिया. ये मजबूत सरकार नहीं चाहते, ये कमजोर सरकार ही चाहते हैं. अगर ये 10-5 सीटें जीत जाएं, वही गनीमत है.’

Loading...

इसके साथ ही शर्मा ने कहा, ‘वे साथ ही कहते हैं कि हम हमारे पप्पू का साथ लेंगे. पप्पू बेचारा पप्पू ही रह गया. उस दिन हम भी संसद थे, मोदी जी सामने बैठे थे और उनसे एक लाइन पीछे हम बैठे थे. क्यां आंख मारी थी, मैं भी पीछे बैठा हुआ कायल हो गया. पप्पू कहता है कि मैं प्रधानमंत्री बनूंगा. अब तो पप्पू की पप्पी भी आ गई. क्या पहले प्रियंका गांधी इस देश की बेटी नहीं थीं, क्यां कांग्रेस की बेटी नहीं थीं? क्या सोनिया परिवार की बेटी नहीं थीं? क्या नया लेकर आई हैं. पहले नेहरू, फिर राजीव गांधी, फिर संजय गाधी, फिर राहुल गांधी, फिर प्रियंका गांधी और कोई और भी अंदर होतो तो वो भी गांधी होगी. देश पर तुम लोगों ने कोई एसहान कर रखा है क्या? इन सबसे ऊपर उठकर देखना है तो आज हमारा शेर नरेंद्र मोदी खड़ा है.’

इससे पहले डॉ. महेश शर्मा का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह भगवान पर टिप्पणी करते देखे जा सकते हैं. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि ‘जब भगवान सबकी इच्छाएं पूरी नहीं कर सकते तो एक सांसद कैसे कर सकता है.’ बताया जा रहा कि यह वीडियो नगर के भजनलाल मंदिर में आयोजित कार्यकर्ताओं के साथ बैठक का है.

वायरल वीडियो के अनुसार, केंद्रीय मंत्री भगवान पर टिप्पणी करते हुए दिख रहे हैं कि ‘हम सब भगवान के बच्चे हैं. जब भगवान ने हमें दुनिया में भेजा है तो उसकी जिम्मेदारी बनती है कि हमारे के लिए रोटी, कपड़ा, मकान, रोजगार, हमारे बच्चों की पढ़ाई का इंतजाम करें. आज भी पूर्वी यूपी बलिया समेत अन्य जिलों में लोगों को भरपेट खाना नहीं मिलता. बच्चे जब स्कूल जाते है तो वह मिड-डे मील से ही पेट भरते हैं, बाकी भूखे रहते हैं.

उन्होंने कहा कि सबकी इच्छाएं तो भगवान भी पूरी नहीं कर सकता, फिर एक सांसद कैसे कर सकता हैं.’ इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ता और समर्थकों से कहा कि यह शिकवे, शिकायत और मांग का समय नहीं है. अब केवल चुनाव जिताने में जुट जाएं. उन्होंने जनता के सवालों के जवाब में सरकार की योजनाएं बताने का सुझाव दिया.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें