कश्मीरियों को लेकर मीडिया के रवैये पर भड़कते हुए जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा कि मीडिया आग में घी डालने का काम बंद करना चाहिए.

तीन दिवसीय ‘इंडिया आइडियाज कॉनक्लेव 2017’ में उन्होंने कहा, मीडिया भले ही अलगाववादियों को आरोपी बना रहा है लेकिन इसके साथ ही मीडिया उन्हें जहर उगलने के लिए टीवी पर भी जगह दे रहा है.

उन्होंने कहा कि वह नहीं जानतीं कि वे ऐसा क्यों कर रहे हैं. क्या यह टीआरपी के चलते हो रहा है? मीडिया को मौजूदा स्थिति से कश्मीर को बाहर निकालने में हमारी मदद करनी चाहिए और आग में घी नहीं डालना चाहिए. मुफ्ती ने कहा कि मीडिया कुछ राज्यों से ऐसे बेकार लोगों को टीवी पर बोलने के लिए चुनता है जो देश के खिलाफ बोल सकें.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुख्यमंत्री ने कहा, मीडिया द्वारा चुने गए ये ऐसे लोग होते हैं जिन्हें ना कोई जानता है और ना ही उनका कश्मीर में कोई परिचित होता है। ऐसे लोगों को टीवी पर लाकर किसी से भिड़ाया जाता है जिसके बाद दोनों लड़ने लगते हैं जिसे कश्मीर और बाकी देशवासी देखते रहते हैं.

उन्होंने कहा, इस लड़ाई को देखकर सभी को लगता है कि ये लोग कश्मीरी हैं और ये देश के बारे में बुरा बोल रहे हैं. यही वजह है कि कश्मीरी बुरे माने जाते हैं, वहीं दूसरी तरफ कश्मीरियों को लगता है कि उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं. मुफ्ती ने कहा कि मीडिया द्वारा कश्मीरियों और बाकी देशवासियों को करीब लाने की कोशिश की जानी चाहिए.

Loading...