संविधान विरोधियों से नहीं चाहिए महात्मा गांधी को देशभक्ति का सर्टिफिकेट: उमर कासमी

भोपाल: मध्य प्रदेश के कांग्रेस सचिव मौलाना उमर कासमी ने बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर दिये गए विवादित बयान की आलोचना करते हुए कहा कि महात्मा गांधी को संविधान विरोधियों से देशभक्ति के सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं है।

उन्होने हेगड़े के बयान पर कहा कि जिनके आदर्श अंग्रेजों से वेतन पाने वाले सावरकर जैसे हो। उनसे बस यही उम्मीद की जा सकती है। उन्होने कहा कि हेगड़े जिस संगठन से आते है उसका इतिहास न केवल गांधी विरोधी बल्कि संविधान विरोधी रहा है। जिस वजह से वह आए दिन संविधान को बदलने की मांग करते रहते है।

कासमी ने कहा कि एक तरफ हेगड़े के आदर्श सावरकर है। जो अंग्रेजों को माफीनामे भेजकर उनसे पेंशन लिया करते थे तो दूसरी तरफ महात्मा गांधी है। जिसने अपने अहिंसा के हथियार के दम पर ने केवल अंग्रेजों को झुकाया बल्कि उन्हे इस देश को छोडने के लिए भी मजबूर कर दिया।

कांग्रेस नेता ने कहा कि पीएम मोदी का महात्मा गांधी से प्रेम एक मात्र दिखावा भर है। उनके असली हीरो तो गांधी के कातिल गोडसे है। अन्यथा अब तक महात्मा गांधी का अपमान करने पर हेगड़े को बीजेपी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया होता।

विज्ञापन