shivraj singh chouhan 1121

मध्य प्रदेश में पिछले 15 सालों से लगातार शासन कर रही बीजेपी की मतदान से ठीक छह सप्‍ताह पहले RSS के सर्वे ने नींद उड़ा दी है। दरअसल, RSS के सर्वे में भाजपा की हार रही है।

भाजपा के मौजूदा विधायकों के प्रदर्शन और अन्य सीटों पर पार्टी की स्थिति को लेकर सर्वे के बाद अब  RSS ने भाजपा के 78 मौजूदा विधायकों को चुनाव में न उतारने का सुझाव दिया है। आरएसएस ने यह भी सुझाव दिया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बुधनी की जगह भोपाल की गोविंदपुरा सीट से चुनाव लड़ाया जाए।

बुधवार (17 अक्टूबर) को भोपाल में सीएम शिवराज सिंह चौहान के आवास पर पार्टी नेताओं ने करीब पांच घंटे से ज्यादा समय तक मंथन किया। इस बैठक में सीएम के अलावा केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रदेश प्रभारी विनय सहस्रबुद्धे, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह समेत प्रदेश संगठन मंत्री सुहास भगत भी शामिल हुए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान पार्टी के बड़े पदाधिकारी इस बात पर राजी हुए कि केवल संभावित विजेता उम्‍मीदवार का चयन किया जाएगा और कोई अन्य कारक नहीं माना जाएगा। पार्टी हाईकमान का यह भी कहना है कि जब तक अदालत से कोई भी उम्मीदवार दोषी न करार दिया जाए तब तक उसे भ्रष्ट नहीं कहा जाएगा।

राकेश सिंह ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि पार्टी केवल जीत के मानदंडों पर ही टिकट देगी। किसी भी संभावित उम्मीदवार के खिलाफ अदालत का फैसला होने तक टिकट देने में कोई दिक्‍कत नहीं है। बता दें कि मध्य प्रदेश में कुल 230 विधान सभा सीट हैं। 2013 के चुनावों में भाजपा को 165 सीटों पर जीत मिली थी।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक 27-28 अक्टूबर से उम्मीदवारों की लिस्ट आनी शुरू हो सकती है। राज्य में 28 नवंबर को एक ही चरण में वोट डाले जाएंगे। वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

Loading...