बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की तबीयत शुक्रवार को खराब हो गई थी। फेफड़ों में न्यूमोनिक पैच विकसित होने के बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई थी।

रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक कामेश्वर प्रसाद ने कहा कि अब लालू यादव की तबीयत में मामूली सुधार है। उन्हे एंटीबायोटिक्स पर रखा गया है। वहीं अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप ने एएनआई को बताया कि उनका कोरोना टेस्ट भी नेगेटिव आया है।

एक दिन पहले ही तेजप्रताप और तेजस्वी यादव, बेटी मीसा भारती और पत्नी राबड़ी देवी ने उन्हें रिम्स अस्पताल में भर्ती कराया था। एएनआई से बात करते हुए, तेजस्वी यादव ने कहा कि परिवार लालू यादव के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित था क्योंकि वह मधुमेह और दिल की बीमारियों से भी पीड़ित है।

इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोशल मीडिया पर पाबंदी लगाकर, लोकतंत्र की जननी वैशाली का मखौल उड़ा रहे हैं। तेजस्वी यादव का कहना है कि नीतीश कुमार के शासनकाल में अब तक 60 बड़े घोटाले हुए। अब इन घोटालों पर अगर कोई सोशल मीडिया पर लिखता है तो क्या गलत करता है।

1996 के चारा घोटाला सहित कई मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद लालू यादव दिसंबर 2017 से हिरासत में हैं, जिसमें राज्य के सरकारी खजाने से करीब 1,000 करोड़ रुपये का गबन शामिल है।