पटना | पहले उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड विधानसभा चुनावो के नतीजे और अब दिल्ली एमसीडी इलेक्शन के नतीजे, दोनों ही परिणाम एक ही तरफ इशारा कर रहे है की अगर विपक्ष जल्द ही नही संभला तो पुरे देश में केवल भगवा लहर दिखाई देगी. मतलब साफ़ है की विपक्ष के एकजुट हुए बिना बीजेपी के विजय रथ को रोकना असंभव सा लगने लगा है.

सबसे बड़ी बात यह है की हर जगह बीजेपी की जीत प्रचंड जीत रही है, उनको करीब दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाने का मौका मिला है. इसी बात पर चिंता जताते हुए राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने सभी विपक्षी दलों से एकजुट होने का आह्वाहन किया है. उन्होंने कहा की अगर विपक्षी दल एकजुट नही होंगे तो ऐसे ही नतीजे आते रहेंगे. लालू ने यह प्रतिक्रिया एमसीडी चुनावो के नतीजे आने के बाद दी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लालू ने आगे कहा की बीजेपी केवल इसलिए जीत रही है क्योकि हम अलग अलग लड़ रहे है. अगर एक होकर लड़ेंगे तो बीजेपी को आसानी से हरा सकेंगे. लालू ने ईवीएम् छेड़छाड़ के आरोप पर कहा की कुछ तो झोल है. हालाँकि लालू प्रसाद यादव के तर्कों पर जाए तो तस्वीर स्पष्ट हो जाती है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावो में मायावती और अखिलेश यादव की पार्टी को मिले वोट परसेंटेज मिला दिए जाये तो वो बीजेपी से ज्यादा बैठता है.

यूपी में जहाँ अखिलेश को 24 फीसदी वोट मिले वही मायावती को 22 फीसदी वोट प्राप्त हुए. जबकि बीजेपी का वोट परसेंटेज 41 फीसदी रहा. ऐसे ही दिल्ली एमसीडी चुनावो की बात करे तो जहाँ बीजेपी को 39 फीसदी के करीब वोट मिला है वही आप को 26 फीसदी और कांग्रेस को 22 फीसदी वोट मिला है. इसके अलावा बाकि विपक्षी दलों ने भी करीब 13 फीसदी वोट प्राप्त किया है.

Loading...