ललितपुर रेप केस- क्या भाजपा चलाएगी पुलिस स्टेशन पर बुलडोज़र? अखिलेश यादव ने पीड़िता से मिलने के बाद किया सवाल

इंडिया में आये दिन रेप के मामले सामने आते रहते है जो काफी निंदनीय है हाल ही में एक ऐसा मामला आया है जिसने पूरे देश को सहरमसार कर दिया है जहा हम पुलिस को अपना मुहाफ़िज़ यानी की रक्षा करने वाला समझते है क्या हो अगर पुलिस ही कुछ गलत करे तो दरअसल एक बच्ची का रेप हुआ फिर जब वो थाने पहुंची शिकायत लेकर तो थाने में ही उसका फिर से रेप किया गया शायद आपका ये खबर सुन क्र दिल देहल जाए लेकिन ये वाक़ई निंदनीय खबर है।

वही दूसरी ओर जहा पुलिस महकमे ने इस पर एक्शन तो लिया लेकिन फिर यूपी पुलिस पर हमेशा के लिए काला धब्बा लग गया ये मामला यूपी के ललितपुर का है जहा इस किस्से को अंजाम दिया गया है बताया जा रहा है कि एक लड़की के साथ पहले रेप हुआ था, शिकायत लेकर थानेदार के पास पहुंची तो थानेदार ने थाने में ही बच्ची के साथ रेप किया।

इसी मामले को लेकर पीड़ित बच्ची और परिवार से मिलने के अखिलेश यादव ललितपुर पहुंचे और योगी सरकार पर उन्होंने ज़ोरदार कटाक्ष किये पीड़ित पक्ष से मुलाकात करने के बाद अखिलेश यादव ने कहा की “पुलिस को जब सुनवाई करनी चाहिए थी तो पुलिस ने सुनवाई नहीं की। जब बेटी पुलिस के पास आई तो पुलिस ही दोषी है। जिससे न्याय की उम्मीद की जाती है, वही अगर बच्ची के साथ ऐसी हरकत कर दें तो सोचिए हम किस दौर जी रहे हैं।’

इसी के आगे अखिलेश यादव से बुलडोज़र को लेकर सवाल किये गए तो वो बोले ‘भाजपा सरकार बताए कि क्या अब पुलिस स्टेशन पर बुलडोजर चलेगा या नहीं चलेगा?’ उन्होंने ये बात तंज़ करते हुए बोली, इसके साथ ही अखिलेश यादव ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि

“ललितपुर में एक बेटी के साथ हुए दुष्कर्म के खिलाफ अगर आज हम सब एक साथ खड़े नहीं हुए तो बेलगाम हो चुकी कानून-व्यवस्था हम सबके दरवाजे तक पहुंच जाएगी। भाजपा सरकार ने पुलिस का राजनीतिक दुरुपयोग कर इंसाफ को थानों में गिरवी रख दिया है। ऐसी सरकार से न्याय की अपेक्षा बेमानी है।”

विज्ञापन