cong

cong

पूर्वोत्तर की तीन राज्यों में त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय में चुनावी नतीजों को लेकर बीजेपी गदगद हो उठी है. तीन राज्यों में से दो राज्यों में बीजेपी सरकार बनाने जा रही है. हालांकि मेघालय में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत नहीं मिला. ऐसे में अब बीजेपी भी सरकार बनाने की संभावनाएं तलाशने में जुटी है.

बता दें कि मेघालय में कांग्रेस 21 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर कर सामने आई है. दूसरे नंबर पर एनपीपी है. बीजेपी के खाते में केवल 2 सीटें ही आई है. लेकिन पार्टी की नजर 17 सीटों पर जीते निर्दलीय उम्मीदवारों पर है. एेसे में साफ़ है कि सत्ता की चाबी निर्दलीय और एनपीपी के हाथों में है. मेघालय में बीजेपी की और से सरकार बनाने का संकेत खुद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ दूसरी और कांग्रेस ने भी अपने अहम रणनीतिकार अहमद पटेल को 2 अन्य नेताओं के साथ मेघालय रवाना कर दिया है. दरअसल, कांग्रेस नहीं चाहती कि गोवा की तरह मेघालय में भी पार्टी ज्यादा सीटें जीतने के बाद भी विपक्ष में बैठे, यही वजह है कि इस बार कांग्रेस सतर्कता बरत रही है. मेघालय के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता मुकुल संगमा को पूरा भरोसा है कि उनकी पार्टी ही सत्ता में आएगी.

चर्चा है कि भाजपा दिवंगत नेता पीए संगमा की पार्टी नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के साथ मिलकर बहुमत साबित कर सकती है. इस बीच बीजेपी महासचिव राम माधव ने भी कहा कि मेघालय में गैर कांग्रेस सरकार बनाने के लिए हेमंत बिस्व शर्मा शिलॉन्ग जाएंगे.

बता दें कि कुल 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा की 59 सीटों के लिए 27 फरवरी को मतदान हुआ था. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के एक प्रत्याशी की मृत्यु आईईडी विस्फोट में हो गई थी जिसकी वजह से एक सीट पर चुनाव रद्द कर दिया.