बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा उस बयान पर कड़ी आपति जताई जिसमे उन्होंने मेवात गैंगरेप और हत्याकांड की तुलना छोटी से घटना से करते हुए कहा था कि ऐसी घटनाये कहीं पर भी घट सकती हैं.

उन्होंने इस मामलें में प्रधानमंत्री से संज्ञान लेने की मांग करते हुए सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन् मोदी को खट्टर के बयान पर संज्ञान लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि बीजेपी नेतृत्व खासकर प्रधानमंत्री मोदी को इस आपत्तिजनक बयान का नोटिस अवश्य लेना चाहिए, क्योंकि उन्होंने मोदी ने बेटी बचाओ बेटी बढाओ अभियान की शुरूआत हरियाणा राज्य से ही की थी परंतु उनके वहां के मुख्यमंत्री ही स्वयं महिलाओं की आबरू-इज्जत की खास परवाह नहीं कर रहे हैं

मायावती ने आगे कहा. इस प्रकार के गलत और महिला विरोधी बयानों से भाजपा नेताओं की असली चाल, चरित्र और चेहरा जनता के सामने बेनकाब होता है. उन्होंने कहा कि बलात्कार पीडि़त बहनों के प्रति सहानुभूति का भाव दिखाकर उनकी पीड़ा को कम करने और इंसाफ की उम्मीद बढ़ाने की बजाय हरियाणा के बीजेपी मुख्यमंत्री की इस तरह की गलत बयानबाजी से ही अपराधियों के हौसले बढ़ते हैं.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई कर इस प्रकार की जघन्य घटनाओं को रोकने की कोशिश करने की बजाय ऐसी घटना को खट्टर द्वारा छोटी मोटी घटनाएं बताना बहुत दुखद और शर्मनाक है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें