लखनऊ | उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावो के नतीजे आये हुए करीब एक हफ्ता हो चूका है लेकीन प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली बीजेपी अभी तक मुख्यमंत्री का चेहरा तय नही कर पायी है जबकि यह तय हो चूका है की रविवार को उत्तर प्रदेश सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा. मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को बीजेपी विधायक दल की बैठक होगी जिसमे मुख्यमंत्री की तस्वीर साफ़ हो जाएगी.

अभी तक की खबरों के अनुसार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने की रेस में गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का नाम सबसे आगे चल रहा है. गुरुवार को खबर आई थी की बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य मुख्यमंत्री की रेस से बाहर हो चुके है. बीजेपी राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह ने खुद उन्हें सीएम् तय करने की बागडोर सौपी है. इस खबर के कुछ देर बाद ही मौर्य की हालत बिगड़ गयी और उनको अस्पताल में भर्ती करना पड़ा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लेकिन सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने मुख्यमंत्री के लिए अपनी भी दावेदारी ठोकी है. एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए केशव प्रसाद ने कहा की अमित शाह ने उन्हें मुख्यमंत्री चुनने की जिम्मेदारी सौपी थी. इसको पूरा करते हुए मैंने चार लोगो के नाम मुख्यमंत्री के लिए उनको भेज दिए है. इसमें मेरा खुद का नाम भी शामिल है. केशव के इस बयान से स्पष्ट है की वो खुद भी मुख्यमंत्री बनने के इच्छुक है.

वैसे केशव प्रसाद को मुख्यमंत्री बनाने से बीजेपी को आगामी लोकसभा में फायदा हो सकता है. वो अति पिछड़ा वर्ग से आते है इसलिए उनको मुख्यमंत्री बनाकर बीजेपी पिछड़ा वर्ग में पैठ बनाने की सोच सकती है. यही नही चुनावो में भी केशव प्रसाद ने खूब मेहनत की है. उन्होंने अखिलेश के बाद प्रदेश में सबसे ज्यादा रेलिया की है. इन सबके बीच यह स्पष्ट हो चूका है की रविवार को ही शपथ ग्रहण होगा और इसमें प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह शामिल होंगे.

Loading...