रामलीला मैदान में बृहस्पतिवार से डेरा डाले देशभर से आए हजारों किसानों ने आज भारी-भरकम सुरक्षा के बीच संसद मार्ग पर धरना दे रहे है। ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “लोकसभा चुनाव में पांच महीने शेष हैं। मैं मांग करता हूं कि केंद्र सरकार स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करे। वर्ना 2019 में किसान कयामत ढहा देंगे।

उन्होने कहा कि सारे दिल्ली वाले आज कह रहे हैं कि मोदी जी दिल्ली के लिए हानिकारक हैं। दिल्ली वालों से पूछ के देखिए। वह (पीएम) दिल्ली के हर काम में टांग अड़ाते हैं। उन्होने कहा, पीएम ने किसानों की पीठ में छुरा भोंका है, लिहाजा वे कोई भीख नहीं बल्कि अपनी फसलों के सही दाम मांग रहे हैं।

केजरीवाल ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्य रूप से किसानों की तीन मांगें हैं। पहला उनका पूरा कर्ज माफ किया जाए, दूसरा उन्हें पूरा दाम मिले, तीसरा उन्हें फसल बर्बाद होने पर मुआवजा मिले न कि बीमा के नाम पर उनके साथ खिलवाड़ हो। इसके अलावा केजरीवाल ने स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिशें लागू करने की भी बात रखी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आप नेता ने कहा ‘किसानों को फसल के पूरे दाम मिल गए तो किसान कभी कर्ज नहीं मांगेंगे। आज किसानों को हाथ फैलाना पड़ता है। जब किसान मार्केट में फसल बेचने जाता है तो खरीदने वाला नहीं मिलता। किसानों की फसल का दाम तय किया जाए। बीमा कंपनी के मालिक किसानों के अकाउंट से पैसे निकाल लेते हैं। ये बीजेपी की किसान डाका योजना है।’

वहीं काँग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार किसानों और युवाओं का काम जब तक नहीं करेगी तब तक कुछ नहीं होगा। कोई सरकार किसान और युवाओं का अपमान करेगी तो उसे भी हटा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कानून बदलना पड़े, पीएम बदलना पड़े, सीएम बदलना पड़े, कानून बनाने पड़े तो किसानों के लिए बदल डालिए।

राहुल गांधी ने मंच से कहा कि पिछले साढ़े चार साल में नरेंद्र मोदी सरकार ने 15 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ का कर्ज माफ किया है। अगर 15 उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया जा सकता है तो किसानों का कर्ज भी माफ किया जा सकता है। पीएम ने कहा था सही दाम दिलवाएंगे, एमएसपी बढ़ेगी।

उन्होने कहा, आज हालत क्या है आज अंबानी के जेब में पैसा जाता है। हिंदुस्तान को बांट रखा है कहीं अंबानी को, कहीं अदानी को। किसान मोदी जी से अनिल अंबानी के जहाज का पैसा नहीं मांग रहा है। हमारी विचार धारा अलग हो सकती है लेकिन किसानों और युवाओं के भविष्य के लिए हम सब एक होकर खड़े हैं। हम पीएम और बीजेपी से कहना चाहते हैं कि हम पीछे नहीं हटने वाले हैं।

Loading...