दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार और उपराज्यपाल के बीच लंबे समय से चल रही जंग का आज देश की सर्व्वोच अदालत ने फैसला कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए उपराज्यपाल के अधिकार सीमित कर दिये।

कोर्ट ने कहा है कि उपराज्यपाल दिल्ली में फैसला लेने के लिए स्वतंत्र नहीं हैं, एलजी को कैबिनेट की सलाह के अनुसार ही काम करना होगा। ऐसे मे केंद्र की मोदी सरकार को बड़ा झटका लगा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कोर्ट के फ़ैसले को आम आदमी पार्टी ने जनता की अपेक्षाओं की जीत बताते हुए फ़ैसले का स्वागत किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के तुरंत बाद ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली के लोगों की एक बड़ी जीत… लोकतंत्र की बड़ी जीत।’

केजरीवाल ने बुधवार शाम चार बजे कैबिनेट की मीटिंग बुलाई है, केजरीवाल ने अपने ट्वीट में बताया कि मुख्यमंत्री आवास पर होने वाली इस मीटिंग में अब तक अटके पड़े मामलों पर चर्चा होगी।

वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘दिल्ली के लोगों की तरफ से मैं सुप्रीम कोर्ट और सभी जजों का इस ऐतिहासिक फैसले के धन्यवाद देता हूं। उन्होंने बताया कि दिल्ली के लोग ही सर्वोपरि हैं।’

Loading...