रामजस कॉलेज में हुई हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने छात्रा गुरमेहर को धमकी देने वालों की गिरफ्तारी की भी मांग की.

22 फरवरी को दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज के बाहर हुई हिंसा को लेकर केजरीवाल ने कहा कि राष्ट्र विरोधी नारे लगाने का काम किया. केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी और एबीवीपी ने अपने लोगों को भेजकर देश विरोधी नारे लगवाए और फिर वहां से फरार हो गए. दूसरे स्टूडेंट्स पर देस विरोधी नारे लगाने का आरोप लगाते हुए उनकी पिटाई की.

उन्होंने आगे कहा, ऐसा ही जेएनयू में भी हुआ. नारे लगाने वाले अभी तक नहीं पकड़े गए. क्यों उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया? क्योंकि वह उनके अपने लोग थे इसलिए उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. केजरीवाल ने कहा कि जैसा पिछले साल जेएनयू में हुआ था वैसा ही अब डीयू में हुआ. मैंने उप राज्यपाल से मुलाकात कर इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने और उन्हें सजा दिए जाने की मांग की है. जिन्होंने भी देश विरोध नारे लगाए उनको गिरफ्तार किया जाना चाहिए. अगर वो गिरफ्तार होंगे तो लोगों को पता चलेगा कि नारे लगाने वाले बीजेपी के कार्यकर्ता थे।.

मुख्यमंत्री ने कहा है, गुरमेहर कौर को धमकी देने के मामले में पुलिस ने एफआईआर की है, सिर्फ एफआईआर से काम नहीं चलेगा. उन्हें तुरंत गिरफ्तार करके पुलिस-प्रशासन का कड़ा संदेश दें. किसी को भी सोशल मीडिया पर धमकी देने का ट्रेंड बनता जा रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें