कश्मीर समस्या को लेकर अलगाववादी नेताओं सहित सभी पक्षों के साथ बातचीत के पक्षधर वाजपेयी सरकार में रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर से कश्मीर समस्या के समाधान के लिए बिना समय गंवाए बातचीत पर जोर दिया हैं.

अमर उजाला से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस मामले में किसी भी तरह का विलंब उचित नहीं है. सरकार पहले ही पिछले साल सर्दी के मौसम में बातचीत शुरू करने का समय खो चुकी है. इसलिए कश्मीर को लेकर पीडीपी के साथ तय हुए एजेंडा फॉर एलायंस पर आगे बढऩे में देरी उचित नहीं है.

उन्होंने कहा कि कश्मीर का मुद्दा राजनीतिक है और इसे केवल कानून व्यवस्था का विषय मान लेना गंभीर भूल होगी. इसका समाधान राजनीतिक पहल और प्रकिया से ही हो सकता है. उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इसी तर्ज पर कश्मीर समस्या का समाधान निकालने की कोशिश की थी.

सिन्हा का मानना है कि वाजपेयी की नीतियों, सोच और व्यवहारिकता का अभी सही माने में अमल नहीं हो रहा है। इसके चलते कश्मीर में हालात दिन प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे हैं. पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि कश्मीर में अपनी असफलताओं पर पर्दा जालकर बहाना बना रहे हैं कि वहां  जो हो रहा है वह पाकिस्तान करा रहा है. कश्मीर भारत के कब्जे में है और इसके बाद ऐसा कहना ठीक नहीं है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें