satye

satye

उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी को हुई तिरंगा यात्रा के नाम पर हिंसा में एक युवक की मौत हो गई, दो गंभीर रूप से घायल हुए. लाखों रूपये की संपति को नुकसान हुआ. लेकिन योगी सरकार के लिए यह मात्र के छोटी सी घटना है.

दरअसल, योगी कैबिनेट के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने इस हिंसा को ‘छोटी-मोटी घटना’ करार दिया है. उन्होंने कहा, ‘ऐसी छोटी-मोटी घटनाएं अक्सर होती रहती हैं, हर जगह होती हैं. ज्यादा ध्यान देने की जरूरत नहीं है.’

खादी, ग्रामोद्योग एवं कपड़ा विभाग के मंत्री पचौरी ने इस घटना के लिए जिले के अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘अधिकारियों को मामला बढ़ने से पहले ही कानून तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए थे.’

ध्यान रहे  पश्चिमी यूपी के कासगंज में 26 जनवरी को विश्व हिन्दू परिषद और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के लोगों ने तिरंगा यात्रा निकाली और जबरन एक समुदाय विशेष के मोहल्ले में हंगामा किया. इसके बाद लोगों ने बाइक पर निकली तिरंगा यात्रा पर पथराव किया और हिंसा भड़क गई.

इस हिंसा में चंदन नाम के युवक की मौत हो गई, जबकि अकरम की आंख चली गई. चंदन की अंत्योष्टि से वापस आ रहे लोगों ने कासगंज में जमकर बवाल किया. प्रशासन की नाक के नीचे दुकानों और बसों में आग लगाई गई. तीन दिन तक कासगंज सांप्रदायिक हिंसा की आग में जलता रहा.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें