karnataka 620x400

कर्नाटक की जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) और कांग्रेस गठबंधन सरकार के 25 कैबिनेट मंत्रियों ने बुधवार (6 जून) को शपथ ली। जिसमे कांग्रेस के 14 विधायक और जनता दल सेक्युलर के 9 विधायक को मंत्री पद दिया गया।

लेकिन इस दौरान काँग्रेस ने पार्टी के 7 बार विधायक रहे रोशन बेग को मंत्री पद देना समझा। ऐसे मे कांग्रेस विधायकों के समर्थक सड़कों पर उतर आए। रोशन बेग को मंत्री न बनाए जाने से समर्थक और मुस्लिम मतदाता रोशन बेग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

इससे पहले रोशन बेग को उपमुख्यमंत्री बनाने की भी मांग उठी थी। जिस पर रोशन बेग ने अपनी उम्मीदवारी का समर्थन किया था। 66 साल के आर रोशन बेग अल-अमीन एजुकेशनल सोसाइटी के वाइस चेयरमैन भी हैं।

मंत्री पद न मिलने से असंतुष्ट कांग्रेस के दूसरे विधायकों में रामालिंगा रेड्डी का भी नाम शामिल है। उनके समर्थकों ने भी कर्नाटक की नवगठित सरकार में उनके लिए मंत्री पद की मांग रखी।

इन्हें मिली कैबिनेट में जगह

कांग्रेस: आरवी देशपांडे, डीके शिवकुमार, केजी जॉर्ज, कृष्ण बायरे गौड़ा, शिव शंकर रेड्डी, रमेश जरकिहोली, प्रियंक खड़गे, यूटी अब्दुल खादेर, जमीर अहमद खान, शिवानंद पाटिल, वेंकट रामनप्पा, राजशेखर बासवराज पाटिल, पुत्तरंगा शेट्टी, जयमाला। प्रियंक कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के बेटे हैं।

जेडीएस:एचडी रेवन्ना, बंडेप्पा काशेमपुर, जीटी देवेगौड़ा, डीसी थामन्ना, एमसी मनागुली, एसआर श्रीनिवास, वेंकटराव नाडेगौड़ा, सीएस पुत्तराजु और एसआर महेश। बता दें कि एचडी रेवन्ना पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस चीफ एचडी देवेगौड़ा के दूसरे बेटे हैं।

बसपा: एन महेश

निर्दलीय: आर शंकर

मंत्रिमंडल में एक महिला
मंत्रिमंडल में पूर्व कन्नड़ अभिनेत्री जयमाला अकेली महिला मंत्री हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?