बीजेपी के दलित सांसद को गांव में नहीं घुसने दिया, पुलिस ने शुरू की जांच

9:54 am Published by:-Hindi News

नई दिल्ली:कर्नाटक के चित्रदुर्ग से भाजपा सांसद ए नारायणस्वामी के साथ जातिगत भेदभाव का मामला सामने आया है। दरअसल, उन्हे प्रवेश से सिर्फ इसलिए रोक दिया गया क्योंकि वह दलित जाति से आते है।

उन्होंने बताया कि यह घटना जिले के परामलहल्ली गांव में घटी। नारायणस्वामी ने कहा कि वे अधिकारियों के साथ गोला समुदाय के गांव गोलारहट्टी गए थे, वहां कुछ लोगों ने कहा कि आप अनुसूचित जाति से हैं, इसलिए आपको प्रवेश की अनुमति नहीं है। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

हालांकि, इस दौरान गांव के कुछ लोगों उन्हें अपने घर में रुकने को कहा लेकिन उन्हें ऐसा करने से इनकार कर दिया। उन्होंने बाद में कहा कि मैं नहीं चाहता था कि मेरी वजह से गांव वाले आपस में लड़ें, इसलिए मैं गांव से बाहर निकल गया।

bjp

वहीं एक स्थानीय नागरिक नागराज ने बताया, “हमारी परंपरा हैं और यह वर्षों से चली आ रही है कि हम दलितों को मंदिर में प्रवेश नहीं करने देते। इसलिए वहां पर सभी लोगों ने कहा कि सांसद को अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।” चित्रदुर्ग लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के सदस्यों के लिए आरक्षित है।

तुमकुरु के उपायुक्त राकेश कुमार ने कहा कि स्थानीय लोगों को समझाने के लिए बैठकों का आयोजन किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो वह खुद उनसे मिलने जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘मुझे इस बारे में रिपोर्ट प्राप्त करनी है कि गोलारहट्टी के लोगों के इस तरह के आचरण का कारण क्या था। अगर हमें पता चल जाए कि किसने क्या किया है, तो हम एससी/एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर सकते हैं।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें