पटना । बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कन्हैया को जेएनयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जवाब देते हुवे कहा कि शराब पीना और इसका व्यापार करना दोनों लोगों का मौलिक अधिकार नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि संविधान में भी लिखा है कि शराबबंदी के लिए राज्य सरकारें कदम उठाएं।

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने बिहार में शराब बंदी पर सवाल उठाते हुवे कहा था कि ”मैं इस विचार से सहमत नहीं हूं, ये शराबबंदी व्यक्तिगत स्वतंत्रता के खिलाफ है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कभी-कभी ऐसा होता है कि जब किसी को विषय की पूरी जानकारी नहीं होती है तो वे इस तरह की बात कहते हैं। मैंने कन्हैया को इस संबंध में पूरी बात बताई। शराबबंदी को लेकर मेरा राष्ट्रव्यापी अभियान चलाने का कोई इरादा नहीं था।