Monday, September 20, 2021

 

 

 

कमलनाथ, गहलोत और चिंदबरम ने पार्टी हित से ऊपर रखा पुत्र मोह: राहुल गांधी

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के भीतर घमासान शुरू हो गया है।प्राप्त जानकारी के मुताबिक हार के कारणों की समीक्षा के लिए शनिवार को बुलायी गई कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक में राहुल गांधी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर बेहद नाराजगी जतायी।

राहुल गांधी ने पार्टी के तीन वरिष्ठ नेताओं- राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की आलोचना करते हुए कहा कि इन्होंने पार्टी हित से ऊपर अपने बेटों को रखा। राहुल ने यह बात ज्योतिराजदित्य सिंधिया की उस टिप्पणी पर कही, जिसमें सिंधिया ने कहा था कि पार्टी को स्थानीय नेताओं को तैयार करना चाहिए।

राहुल ने कहा कि कांग्रेस ने उन राज्यों में भी बहुत खराब प्रदर्शन किया है, जहां उनकी सरकार थी। उन्होंने आगे कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने अपने बेटों को टिकट देने पर जोर दिया हालांकि वह निजी रूप से इसके पक्ष में नहीं थे। इस संदर्भ में राहुल ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम का भी नाम लिया।

इतनी बड़ी हार के बाद काफी गुस्से में नजर आ रहे राहुल ने पार्टी नेताओं पर मुद्दों को लेकर ढिलाई बरतने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कैंपेन में उठाए गए मुद्दों को आगे बढ़ाकर बीजेपी और उसके नेता नरेंद्र मोदी के खिलाफ एक मजबूत राय नहीं तैयार की गई।

राहुल गांधी ने इस दौरान खास तौर पर राफेल डील और ‘चौकीदार चोर है’ जैसे मुद्दों का नाम भी लिया। कांग्रेस अध्यक्ष इसके बाद  खुद को हार का जिम्मेदार माना और कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, प्रियंका गांधी तथा पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें रोका। इस दौरान कुछ नेता भावुक भी हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles