Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

नागरिकता संशोधन बिल के समर्थन पर JDU में बगावत, जोहर आजाद ने दिया इस्तीफा

- Advertisement -
- Advertisement -

पटना: नागरिकता संशोधन बिल (Citizen Amendment Bill) विपक्षियों के विरोध के बावजूद लोकसभा में सोमवार पारित हो गया। इस पर करीब सात घंटे लंबी बहस चली। अब इस बिल को राज्यसभा में पेश होना है।

इसी बीच बिहार में जेडीयू इस मुद्दे पर दो फाड़ में नजर आ रही है। दरअसल, जेडीयू ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन किया। वहीं जदयू के नेशनल एग्जीक्यूटिव के सदस्य और रिटायर्ड आईपीएस एन के सिंह ने कहा,”कल आजादी के बाद काला दिन था।”

आईपीएस एन के सिंह ने कहा, “कल आजादी के बाद का काला दिन था। कल के दिन गांधी, नेहरू और पटेल के धर्मनिरपेक्ष बहुलतावादी, लोकतांत्रिक भारत को पीछे छोड़ते हुए गोलवलकर, सावरकर और आरएसएस के एक हिन्दू राष्ट्र की ओर पहला कदम बढ़ा दिया गया है।”

वहीं जदयू के राष्ट्रीय महासचिव पवन वर्मा ने नीतीश कुमार से नागरिकता संशोधन विधेयक पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है। पवन वर्मा ने ट्वीट कर कहा, ” मैं नीतीश कुमार से गुजारिश करता हूं कि राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन करने के फैसले पर पुनर्विचार करें। यह विधेयक असंवैधानिक है। भेदभाव करने वाला है और देश की एकता और सद्भाव को तोड़ने वाला है। इसके अलावा जेडीयू के धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों के खिलाफ है। गांधी जी अगर होते तो वे इस विधेयक से बिल्कुल भी सहमत नहीं होते”

इसी बीच जेडीयू नेता जौहर आजाद ने नीतीश कुमार को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। उन्होने अपने इस्तीफे में लिखा जदयू को आरएसएस के हाथो में सौंपने की बात कही गई है। इसके अलावा पार्टी के सेक्युलर रुख को लेकर भी सवाल उठाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles