sharad powar statement over bjp and shivsena government

जेएनयू मुद्दे को राजनीतिक षड्यंत्र बताते हुए पवार ने कहा कि ऐसा प्रचारित किया जा रहा है कि केवल वही (भाजपा) राष्ट्रवादी है और दूसरे राष्ट्र विरोधी।

जेएनयू गतिरोध को लेकर भाजपा नीत सरकार पर प्रहार करते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि पार्टी अलगाव का बीज बो रही है क्योंकि आगामी चुनावों में उसे अपनी हार दिख रही है। पवार ने कहा कि भाजपा अपने सामने पराजय देख रही है। इसलिए पार्टी चुनाव से पहले अलगाववाद और हिंदुत्व का बीज बो रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्य में राकांपा पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

जेएनयू मुद्दे को राजनीतिक षड्यंत्र बताते हुए पवार ने कहा कि ऐसा प्रचारित किया जा रहा है कि केवल वही (भाजपा) राष्ट्रवादी है और दूसरे राष्ट्र विरोधी। उन्होंने कहा- कोई भी भारत विरोधी पोस्टर का समर्थन नहीं करता। पुलिस को जटिल मुद्दे की जांच करनी चाहिए। वहां बमुश्किल दो फीसद माओवादी समर्थक होंगे। जिस पैनल ने एबीवीपी (जेएनयू में) को पराजित किया उसे राष्ट्रविरोधी बताया जा रहा है और जेल भेजा जा रहा है।

राकांपा के वरिष्ठ नेता ने दावा किया कि विभिन्न राज्यों में आगामी चुनावों में भाजपा परास्त होगी। महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस नीत भाजपा-शिवसेना की सरकार पर हमला करते हुए पवार ने कहा कि नए शासन ने राज्य के कई हिस्सों में जल संकट के समाधान के लिए कुछ नहीं किया है। उन्होंने भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार पर हमला करते हुए कहा कि इस सरकार को एक भी फैसला करने दीजिए जो हमारी सरकार ने किए और फिर पूछिए कि हमने क्या किया। सत्ता आती-जाती रहती है लेकिन इसका नशा सिर पर नहीं चढ़ना चाहिए। (Jasatta)


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें