gagan

जम्मू : जम्मू कश्मीर अनुच्छेद 35ए और धारा 370 हटाने में जुटी बीजेपी को अपने ही विधायकों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। विधायक गगन भगत ने अनुच्छेद 35-ए के समर्थन करते हुए कहा कि अगर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 35-ए को हटाया जाता है तो इसका सबसे ज्यादा नुकसान जम्मू संभाग को होगा।

उन्होने कहा कि “केंद्र की भाजपा सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इस मुद्दे को उठा रही है। यदि यह अनुच्छेद समाप्त हुआ तो जम्मू के लोग सबसे ज्यादा पीड़ित होंगे। जम्मू में कोई नौकरी नहीं रह जाएगी। यहां के लोग बेरोजगार हो जाएंगे।”

भाजपा विधायक ने कहा, “कश्मीर के लोग हमारी लड़ाई लड़ रहे हैं, जबकि जम्मू के लोग अनुच्छेद 35ए को समाप्त करने की मांग कर रहे हैं। हम सभी अपनी आवाज बुलंद करें, ताकि यह अदालत तक पहुंच सके।” भगत ने अपनी ही पार्टी बीजेपी पर इस मुद्दे को लेकर राजनीति करने का आरोप भी लगाया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि इससे पहले जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट(जेकेएलएफ) के प्रमुख यासीन मलिक ने शुक्रवार को कहा कि अनुच्छेद 35ए सीधे तौर पर कश्मीरियों के आत्मनिर्णय से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा, “हम भारतीय शासकों को बताना चाहते हैं कि प्रत्येक कश्मीरी राज्य संबंधित कानून की रक्षा अपना खून और जिंदगी देकर भी करेगा।”

वहीं शनिवार को फारुक अब्दुल्ला ने कहा, ‘केंद्र सरकार 35-ए के बहाने हमें परेशान करना चाहती है, लेकिन हम इस अनुच्छेद में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होने देंगे।’

फारुक ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ भी यह कह चुकी है कि केंद्र सरकार 35-ए में किसी प्रकार का बदलाव नहीं कर सकती है। इसे जानते हुए भी सरकार इसे लेकर राजनीति कर रही है लेकिन जब तक मैं अपनी कब्र में नहीं चला जाता, जब तक उनके खिलाफ लड़ाई लड़ता रहूंगा।’

Loading...