Monday, July 26, 2021

 

 

 

IMF ने घटाया भारत की GDP का अनुमान, चिदंबरम बोले – अब मोदी के मंत्री गीता गोपीनाथ को….

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने 2019-20 वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर (जीडीपी) के अनुमान को कम कर 4.8 प्रतिशत कर दिया है। गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनियों में दबाव और ग्रामीण भारत में आय वृद्धि कमजोर रहने का हवाला देते हुए वृद्धि अनुमान को कम किया गया है।

आईएमएफ ने अपने बयान में कहा है कि विश्व की अर्थव्यवस्था को डाउनग्रेड करने के पीछे उभरते बाजारों में आर्थिक गतिविधियों को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियां हैं, खासतौर पर भारत की सुस्त विकास दर की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था की विकास की रफ्तार पर असर पड़ रहा है। कुछ मामलों में इस आर्थिक मंदी का प्रभाव सामाजिक अस्थिरता के बढ़ने के रूप में भी देखा जा सकता है। आईएमएफ के अनुसार 2019 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.8 प्रतिशत, 2020 में 5.8 प्रतिशत और 2021 में 6.5 प्रतिशत रह सकती है।

आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कहा कि मुख्य रूप से गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र में नरमी और ग्रामीण क्षेत्र की आय में कमजोर वृद्धि के कारण भारत की आर्थिक वृद्धि दर अनुमान कम किया गया है। उन्होंने कहा कि वहीं दूसरी तरफ चीन की आर्थिक वृद्धि दर 2020 में 0.2 प्रतिशत बढ़कर 6 प्रतिशत करने का अनुमान है। यह अमेरिका के साथ व्यापार समझौते के प्रभाव को बताता है। मुद्राकोष ने कहा कि भारत में घरेलू मांग उम्मीद से हटकर तेजी से घटी है। इसका कारण एनबीएफसी में दबाव और कर्ज वृद्धि में नरमी है।

इसी बीच अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के ताजा अनुमान पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता  पी. चिदंबरम ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। पी. चिदंबरम ने 21 जनवरी को किए अपने ट्वीट में लिखा है, ‘नोटबंदी की निंदा करने वालों में आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ एक थीं। मुझे लगता है कि हमें आईएमएफ और डॉ. गीता गोपीनाथ पर सरकार के मंत्रियों के हमले के लिए खुद को तैयार करना चाहिए।’

एक अन्य ट्वीट में चिदंबरम ने लिखा, कई कोशिश के बाद भी जीडीपी 4.8 फीसदी रहेगी। अगर यह और भी कम हो जाए तो मुझे आश्चर्य भी नहीं होगा।आईएमएफ के रियलिटी चेक में 2019-20 में ग्रोथ रेट 5 फीसदी से कम 4.8 फीसदी होगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles