ममता बनर्जी का फरमान – पश्चिम बंगाल में रहना है तो बोलनी होगी बांग्‍ला

9:39 am Published by:-Hindi News

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में रहने वालों को बांग्ला भाषा में बोलना सीखना होगा। ममता ने भाजपा पर बंगालियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि वह भाजपा को कभी भी पश्चिम बंगाल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का गृह प्रदेश गुजरात में बदलने नहीं देंगी।

उत्‍तर 24 परगना जिले में तृणमूल कांग्रेस की रैली को संबोधित करते हुए ममता ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, ‘हमें बांग्‍ला को आगे लाना होगा। जब मैं बिहार, यूपी, पंजाब जाती हूं तो वहां की भाषा बोलती हूं। अगर आप पश्चिम बंगाल में रहते हैं तो आपको बांग्‍ला बोलना ही होगी। मैं ऐसे अपराधियों को बर्दाश्‍त नहीं करूंगी जो बंगाल में रहते हैं और बाइकों पर इधर-उधर घूमते हैं।’

बीजेपी पर सीधा हमला बोलते हुए ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि वह पश्चिम बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगी। बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डॉक्‍टरों की हड़ताल को लेकर विपक्षी बीजेपी और सीपीएम पर हमला बोला है। ममता ने कहा कि विपक्षी दल डॉक्‍टरों को भड़का रहे हैं और मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं।

ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में ईवीएम को प्रोग्राम्ड किया गया था, उन्होंने कहा कि चुनाव कराने के लिए बैलेट पेपर वापस लाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, बीजेपी ने ईवीएम में प्रोग्रामिंग करके कुछ सीटें जीत ली लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि वे बंगालियों और अल्पसंख्यकों को हरा सकते हैं। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।

इस बीच बीजेपी के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने डॉक्‍टरों की हड़ताल को लेकर ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा, ‘ममता बनर्जी, आप प्रदेश की स्वास्थ्य मंत्री भी हैं। आपके अहंकार के कारण पिछले चार दिनों में कितने लोगों ने मौत का दरवाजा खटखटाया है…। कुछ तो शर्म करो…।’

बता दें कि डॉक्‍टरों की हड़ताल के केंद्र पश्चिम बंगाल में आज चौथे दिन भी कई अस्‍पतालों में चिकित्‍सा सेवाएं ठप हैं। राज्‍य में कई डॉक्‍टरों के सामूहिक इस्‍तीफा देना शुरू कर दिया है। अब तक 43 डॉक्‍टरों के साम‍ूहिक इस्‍तीफे की पुष्टि हो गई है। इस्‍तीफा देने वाले 43 डॉक्‍टरों में से 16 आरजी कार मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल कोलकाता के हैं, जबकि 27 अन्‍य डॉक्‍टर नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल दार्जिलिंग के हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें