PM मोदी ने किए नीरव मोदी के खाते में पैसे ट्रांसफर, हमने पड़ा तो उसका सारा पैसा गरीबों में बांट देंगे: राहुल गांधी

rahul gandhi 6 620x400

हैदराबाद : तेलंगाना में लोकसभा चुनाव के वास्ते कांग्रेस के चुनाव प्रचार की शुरुआत करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो न्यूनतम आय गारंटी योजना लागू करेगी।

नीरव मोदी के जरिये पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए राहुल ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी नेनीरव मोदी के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए, लेकिन हम गरीबों के अकाउंट में ट्रांसफर करेंगे, अगर हम नीरव मोदी को पकड़ लेते हैं तो उसका पैसा ओप लोगों को दे दिया जाएगा।’

उन्होने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो भारत बना रहे हैं, एक भारत जहां केवल धनी लोगों को फायदा होता है तथा दूसरा भारत जहां हाथ जोड़कर ऋण माफी की मांग करने वाले किसानों को नीचा दिखाया जाता है। गांधी ने कहा कि कांग्रेस ऐसा नहीं होने देगी। उन्होंने कहा, ‘हमने फैसला किया है कि कांग्रेस पार्टी भारत में हर गरीब को निश्चित न्यूनतम आय देगी। 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार न्यूनतम आय तय करेगी। यह किसी आय स्तर (गरीबी रेखा से) से नीचे नहीं होगी।’

डोकलाम के मुद्दे का जिक्र करते हुए गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने गुजरात में उस वक्त चीनी राष्ट्रपति की मेजबानी की जब उस देश की सेना डोकलाम में घुस आई थी। महिला आरक्षण विधेयक पर गांधी ने कहा कि कांग्रेस लोकसभा और राज्यसभा और राज्य विधानसभाओं में इसे पारित कराने के लिए प्रयास करेगी।

इससे पहले उत्तरी कर्नाटक में एक रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा, मोदी मुझे समझाएं कि किसने मसूद अजहर को भारतीय जेल से पाकिस्तान भेजा। जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा,मोदी के लिये मेरा एक छोटा सा सवाल है. सीआरपीएफ जवानों को किसने मारा? जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख का नाम क्या है?

उन्होंने कहा उसका नाम मसूद अजहर है और 1999 में भाजपा की सरकार थी जिसने उसे भारतीय जेल से अफगानिस्तान के कांधार के रास्ते पाकिस्तान भेजा था। उन्होंने कहा, “आप इसके बारे में क्यों नहीं बोल रहे। आप क्यों नहीं कह रहे कि जिस व्यक्ति ने सीआरपीएफ जवानों को मारा उसे भाजपा ने पाकिस्तान भेजा था…मोदीजी हम आपकी तरह नहीं हैं। हम आतंक के सामने नहीं झुकते हैं। भारत के लोगों के सामने साफ कीजिए कि किसने मसूद अजहर को भेजा था।

विज्ञापन