नई दिल्ली | उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग के उस फैसले पर आम आदमी पार्टी ने सवाल खड़े किये जिसमे उन्होंने आगामी नगर निगम चुनावो को पुरानी ईवीएम् मशीन से कराने का आदेश दिया है. आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग पर राजनीतिक दबाव में काम करने का आरोप लगाते हुए कहा की चुनाव आयोग केंद्र के हाथो की कठपुतली बन गया है.

आम आदमी पार्टी के दिग्गज नेता संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा की पहले राज्य निर्वाचन आयोग ने खुद पुरानी ईवीएम् की गुणवत्ता पर सवाल खड़े किये थे. इसलिए उन्होंने नगर निगम चुनावो को बैलेट पेपर से कराने का फैसला किया था. यहाँ तक राज्य चुनाव आयोग ने इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिए थे. फिर ऐसा क्या हुआ की वो पुरानी ईवीएम् से चुनाव कराने पर राजी हो गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संजय सिंह ने चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा की चुनाव आयोग की केंद्र की कठपुतली बन गया है और उसके इशारे पर काम कर रहा है. आपको बताते चले की उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग ने केन्द्रीय चुनाव आयोग को 31 मार्च को एक पत्र लिखा था जिसमे उन्होंने आगामी चुनाव के लिए नयी ईवीएम् देने की मांग की थी. यही नही राज्य निर्वाचन आयोग ने यह भी लिखा था की अगर ऐसा नहीं होता तो वो बैलेट पेपर से चुनाव कराएँगे.

यूपी चुनाव आयोग के इस फैसले का स्वागत करते हुए अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट किया था की मुझे ख़ुशी है की यूपी निर्वाचन आयोग ने इस मामले पर कदम उठाया,मुझे उम्मीद है कि दिल्ली निर्वाचन आयोग भी ऐसा ही करेगा. लेकिन सोमवार को राज्य चुनाव आयुक्त एस के अग्रवाल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के बाद ईवीएम् से चुनाव कराने पर सहमती जाता दी. उन्होंने बताया की केन्द्रीय चुनाव आयोग उन्हें पर्याप्त मात्रा में ईवीएम् देने पर राजी हो गया है. हालाँकि ये सभी ईवीएम् 2006 से पहले की ही होंगी.

Loading...