Jdu President Sharad Yadav Addressing Press Conference in new Delhi on tuesday. Tribune Photo.Mukesh Aggarwal

सोमवार को जनता दल यूनाइटेड के शरद यादव ने समाजवादी नेता एवं चिंतक मधु लिमये की जयंती पर यहां आयोजित संगोष्ठी में  नौ विपक्षी दलों ने हाथ मिलाकर भाजपा और एनडीए सरकार के खिलाफ एकजुट लड़ाई की मांग की.

इस दौरान कश्मीर के हालात पर भी चिंता जाहिर की गई. जनता दल यूनाइटेड के शरद यादव ने कहा कि पीडीपी -भाजपा गठबंधन के एजेंडा फार अलायंस में हुर्रियत समेत सभी पक्षों से बातचीत करने की बात कही गयी है. उन्होंने कहा कि हाल में उपचुनाव से पता लगा है कि वहां की जनता ने संविधान से किनारा कर लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यादव ने कश्मीर के हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि देश की एकता और अखंडता के लिए वह सबसे बडी चुनौती बन गया है. यदि वहां के हालात नहीं सुधरे तो जिन्ना सही साबित होंगे. उन्होंने कहा, “मैं इस सरकार को चेतावनी देता हूं अगर इसकी नीतियां नियंत्रण से बाहर की जम्मू और कश्मीर की स्थिति को प्रभावित करती हैं, तो यह जिन्ना के दो राष्ट्र सिद्धांत की सफलता का कारण होगा.”

माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कश्मीर में भारतीय जवानों के शवों के साथ हुए बर्ताव को गंभीर बताते हुए कहा कि कश्मीर में सरकार की नीति विफल साबित हुई है. भाकपा के अतुल कुमार अंजान ने भाजपा के ‘एक राष्ट्र ,एक निशान और एक विधान ’ के नारे पर तंज कसते हुए कहा कि पहले वह पीडीपी को राष्ट्रविरोधी बताती थी और अब उसी के साथ मिलकर सरकार बना ली.

 

Loading...