AIMIM सांसद बोले – मस्जिदें खोलने की नहीं दी अनुमति तो सड़क पर पढ़ेंगे नमाज़

कोरोना महामारी के बीच धार्मिक स्थलों पर जारी पाबंदी को लेकर एआईएमआईएम के सांसद इम्तियाज जलील उद्धव सरकार पर भड़क उठे है। उन्होने कहा कि जब तमाम आर्थिक गतिविधियां जारी है तो धार्मिक स्थलों पर पाबंदी क्यो? उन्होने सड़क पर नमाज पढ़ने तक की धम’की दी है।

जलील ने कहा, ‘जब व्यवसाय, कारखाने, बाजार- हाइवे खोले गए हैं, यहां तक ​​कि बसें, ट्रेन और उड़ानें भी संचालित हो रही हैं, तो सरकार ने धार्मिक स्थल क्यों बंद किया है। राजस्व के लिए शराब की दुकानें भी खोल दी गई और सीमित लोग शादी-विवाह में शामिल हो सकते हैं। केवल धार्मिक स्थानों को क्यों बंद किया गया है।’

इम्तियाज जलील ने कहा, ‘हम आखिर कब तक इंतजार करेंगे? मैं उन तमाम हिंदुओं से अनुरोध करना चाहता हूं कि वह तमाम मंदिर और पूजा स्थल खुलवाने में लग जाएं। हम दो सितंबर को राज्य में स्थित तमाम मस्जिदों को खुलवाने का आह्वान करेंगे। सरकार अगर इजाजत दे तो ठीक नहीं तो हम सड़क पर नमाज़ पढ़ेंगे।’

इसी बीच बीजेपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के बेटे एनवी सुभाष ने  AIMIM सांसद की मांग को हास्यास्पद करार दिया। उन्होने कहा, राज्यों में अनलॉकिंग की प्रक्रिया चरणवार तरीके से चल रही है। बीजेपी नेता एनवी सुभाष ने कहा कि एक सांसद होने के नाते एमआईएम नेता को मुसलमानों को उकसाना नहीं चाहिए।

उन्होने ये भी कहा, अभी राष्ट्र को सामान्य स्थिति में आना बाकी है। महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे अधिक मामले हैं। बीजेपी नेता ने सांसद के खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की।

विज्ञापन